news-details

सड़क को लेकर जनपद सदस्य ने लिखा, मार्ग है या दलदल पता नही चलता.

भंवरपुर से बड़ेसाजपाली पहुँच मार्ग डामरीकरण किया गया मार्ग है. बावजूद इसके मुख्य मार्ग में हमेशा पानी भरा रहता है, आये दिन यहाँ पर गड्ढो के संपर्क में आकार कोई ना कोई दुर्घटना का शिकार भी होता रहता है. इस मार्ग में ग्रामीण क्षेत्रो से हजारों की तादात में छात्र-छात्राएं भंवरपुर के स्कूलों में अध्यन करने के लिए पहुँचते है. जिसके चलते उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.  

इन गड्ढो के पास आते ही कोई चार पहिया वाहन गुजरता है तो कीचड़ स्कूल के बच्चों के कपड़े में छिटक जाता है. जिससे उनका गणवेश मैला हो जाता है.

इस क्षेत्र के लगभग 25 से 30 गाँवों का आना-जाना इसी मार्ग में होता है. इसी मार्ग का उपयोग कर लोग बसना विकासखंड मुख्यालय और जिला मुख्यालय भी पहुंचते है. भंवरपुर हाट बाजार के लिए शुक्रवार को काफी ज्यादा मात्रा में लोग इसी मुख्य मार्ग का उपयोग करते है. मगर फिर भी इस मार्ग पर विभाग लोगों को इस परेशानी से निजाद दिलाने हेतु कोई कार्य करता नज़र नहीं आ रहा है.

उडेला में एवं भँवरपुर से साजपाली की पक्की सड़क डबरी(दलदल) में तब्दील हो गया है. पानी निकासी के लिए भी कुछ इंतजाम नहीं किया जा राह है जिसके कारण बरसात में और अधिक पानी का जमावड़ा होता है.

रात होते ही गड्ढ़े दिखाई नही देते है पता नहीं चलता है की यहाँ जान लेवा गड्ढा बन चुका है. बावजूद सम्बन्धित अधिकारियों का ध्यान इस मार्ग के मरमम्त को लेकर नही जा रहा है, जबकि ठेकेदार के लिए यह मार्ग सोने का अंडा देने वाली मुर्गी बन चूका है.    

इस सबकी समस्याएं के और मार्ग की मरमन्त के लिए क्षेत्रीय जनपद सदस्य श्री प्रीतम सिंह सिदार जो उड़ेला के ही निवासी और क्षेत्र के जनपद सदस्य है उन्होंने कलेक्टर महासमुन्द को एक पत्र लिखकर  मार्ग के बारे हालात के बारे मे बताया है.

उन्होंने बताया है कि भँवरपुर से सजापाली मार्ग बहुत ही खराब हो गया है मार्ग में इतना गड्ढा हो चुका है कि पता ही नही चलता है कि यह मार्ग है या तालाब, उनका कहना है कि रोज इस मार्ग में दुर्घटनाएं हो रही है जिसके लिए जल्द से जल्द इस मार्ग की मरम्मत के किए कलेक्टर को गुहार लगाई गई है.