news-details

अभियांत्रिकी महाविद्यालय में ‘मानक और गुणवत्ता की पहल तथा शिक्षकों के प्रशिक्षण स्थिति’ विषय पर सेमिनार

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद, सेन्ट्रल रिजनल ऑफिस भोपाल के तत्वाधान में शासकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय सेजबहार रायपुर में ‘मानक और गुणवत्ता की पहल तथा शिक्षकों की प्रशिक्षण स्थिति’ (AICTE: NORMS, STANDARDS AND QUALITY INITIATIVES AND TEACHERS' TRAINING SENSITIZATION) विषय पर सेमीनार का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद से संबंद्ध छत्तीसगढ़ राज्य के कुल 215 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया, जो राज्य के 40 शासकीय और निजी इंजीनिरिंग कॉलेज के प्राचार्य, प्राध्यापक, सह प्राध्यापक और सहायक प्राध्यापक के रूप में पदस्थ हैं।

कार्यक्रम में सी.एस.व्ही.टी.यू. भिलाई के कुलपति प्रोफेसर डॉ. एम.के. वर्मा ने कहा कि आज के तकनीकी शिक्षा के परिपेक्ष्य में सर्वश्रेष्ठ की उत्तरजीविता सिद्धांत के महत्व पर अपनी बात करते हुए कहा कि तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षक एवं छात्र इस शिक्षा प्रणाली के दो आधार स्तंभ हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के एफडी और सेमिनार के माध्यम से शिक्षक एवं छात्रों के प्रायोगिक ज्ञान में वृद्धि होती है। इस तरह के कार्यक्रम समय-समय पर होते रहना चाहिए।

इस कार्यक्रम में प्रमुख वक्ता के रूप में आर.आई.एफ.डी. ए.आई.सी.टी.ई. डायरेक्टर कर्नल बी.वेंकट ने नवम्बर माह के अंतिम सप्ताह में जारी होने वाले SWAYAM प्लेटफार्म पर आधारित एक नए ऑनलाईन एजुकेशन कोर्स के बारे में जानकारी दिए। साथ ही उन्होंने ए.आई.सी.पी.ई. द्वारा प्रदत्त शिक्षकों की गुणवत्ता एवं बेहतरी के लिए उपलब्ध विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित किए और शॉट टर्म ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए फण्ड, विदेश में शोध पत्र प्रस्तुत करने के लिए यात्रा भत्ता, शिक्षकों हेतु क्वालिटी इम्प्रुवमेंट प्रोग्राम और रिसर्च प्रमोशन स्कीम के बारे में भी जानकारी दी। श्री वेंकट Quality Initiative Awareness विषय पर अपना विस्तृत व प्रायोगिक और एनआईटीटीटीआर भोपाल श्री अर्नेस्ट जोसुआ ने व्याख्यान दिए। श्री अर्नेस्ट टेक्नीकल टीचर टेªनिंग मॉड्यूल अवेयरनेस विषय पर अपना वैश्लेषिक व्याख्यान दिए। इस कार्यक्रम का समन्वयन और कोआर्डिशेन प्रो. डॉ.आर.एच. तलवेकर के द्वारा किया गया। प्रो. डॉ. आर.एस. परिहार प्राचार्य शासकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय सेजबहार रायपुर एवं समस्त शिक्षकगण उपस्थित थे।