news-details

महासमुंद की 100 उच्च प्राथमिक शालाओं में बांटे जाएंगे आर्टिफिसियल इंटिलिजेंस सक्षम टेबलेट : स्कूल शिक्षा मंत्री 14 नवम्बर को करेंगे शुभारंभ

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम गुरूवार 14 नवम्बर को जिला महासमुंद के जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डाईट) महासमुंद में जिले के 100 चिन्हांकित उच्च प्राथमिक शाला में आर्टिफिसियल इंटिलिजेंस सक्षम टेबलेट वितरण के कार्यक्रम में शामिल होंगे।

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने ‘फ्यूचर शानदार’ परियोजना के संबंध में बताया कि भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय मिशन अंतर अनुशासनात्मक साइबर भौतिक प्रणाली परियोजना प्रारंभ की गई है। इस परियोजना को हेसलफ्रे फाउण्डेशन चेन्नई द्वारा 19 राज्यों 91 अकांक्षी जिलों में संचालित किया जा रहा है। परियोजना का उद्देश्य है कि जो बच्चे 6वीं से 8वीं कक्षाओं में पढ़ रहे हैं और 2030 तक रोजगार के तालाश में होंगे। इंटरनेट और तकनीक द्वारा होने वाले तेज बदलाव के प्रभावों के बारे में उन्हें अवगत कराना है, ताकि वे आने वाले समय में चुनौतियों का सामना करने में सक्षम हो। छात्रों में रचनात्मकता बढ़ाने और सीखने की आदत डालना भी इस परियोजना में शामिल है।  

परियोजना में प्रत्येक शाला को एक आर्टिफिसियल इंटिलिजेंस टेबलेट (ए.आई.) सक्षम गेजेट (टेबलेट) निःशुल्क प्रदान किया जाता है। इस गेजेट में तकनीक से संबंधित कहानियां एक कार्टून पात्र ‘टीना’ के माध्यम से समझायी गई हैं। बच्चे इन कहानियों द्वारा आने वाली तकनीक के बारे में जानते हैं और अपनी सोच समृद्ध करते हैं।