news-details

सड़क में हुए जानलेवा गड्ढ़े, कई दुर्घटना होने के बाद भी शासन द्वारा नहीं की गई कोई पहल

तेन्दूकोना. बगबाहरा से पिथौरा मार्ग में हुए सैकड़ों गढढों से ईन दिनों वाहन चालको को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सड़क के बीचो बीच हुए खतरनाक गढढों से लगातार दुर्घटनांए घट रही है बावजूद विभाग इन गड्ढों को समतल कराने की दिषा में कोई पहल नही कर रही है.


बता दें यह मार्ग कसडोल, बलौदा बाजार, बिलासपुर, ओड़िशा आंध्रप्रदेश को जोड़ने का एक प्रमुख मार्ग है. उक्त मार्ग 1 नवंबर 2017 से लोक निर्माण विभाग द्वारा राष्ट्रीय राज मार्ग को सर्वे के लिए दिया गया था. अब 1 साल बाद भी इस मार्ग को राष्ट्रीय राज मार्ग घोषित नही किया गया है, जिसके कारण इस मार्ग का चौड़ीकरण व मजबुतिकरण अब तक नही हो पाया. इस मार्ग में क्षमता से ज्यादा भारी वाहनों के चलने से मार्ग का कच्चुबंर निकला जा रहा है.

चुंकि इस मार्ग में कोरबा से विशाखापटनम तक लौह अयष्क व कोयला के साथ-साथ भारी कल पुर्जो का परिवहन किया जाता है इस कारण यह मार्ग अशोसित राष्ट्रीय राज मार्ग ही हो गया है. मगर प्रषासन की कछुआ चाल व उदासिनता के चलते अब तक इस मार्ग का उद्धार नही हो पाया.

ज्ञात हो कि इस मार्ग में सैकड़ो दोपहिया वाहन के साथ साथ ट्रक, डम्पर व भारी भरकम वाहनों के साथ दर्जनों यात्री बस चलती है. मार्ग में हुए बड़े बड़े गढढो के चलते कभी भी बड़ी दुर्घटना होने की आशंका को नकारा नही जा सकता.

यहां से एक किमी दुर बागबाहरा मार्ग में स्थित मचका नाला के पहले सड़क के बीचो बीच हुए गढढे में एक दर्जन से भी अधिक दुपहिया वाहन चालक दुर्घटना के शिकार हो गए है. माह भर पूर्व इसी गढढे से तेन्दूकोना के एक सेंट्रों कार में सावार चालक गढढे को बचाते हुए कार सड़क किनारे पलटा दी. हालाकी इस घटना से चालक को मामुली चोंटे आई किन्तु कार पुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया.

बता दे इसी गढढे को बचाते गत वर्श एक ट्रक व माजदा गाड़ी पलट गई थी जहां चालक परिचालक को मामुली चोंट आई थी. इसी तरह यहां के बस स्टैण्ड, कल्मीदादर पहुँच मार्ग के पास, सांई दरबार व सुनहरी पेट्रो पंप के पास सड़क में अनगिनत बड़े बड़े गढढे हो गए है जहां दुपहिया वाहन चालक गिरकर घायल हो रहे है.
लगातार घटना घटने के बावजूद विभाग द्वारा इस समस्या पर ध्यान न देना समझ से परे है.

उक्त मार्ग को हमारे द्वारा नेशनल हाईवे के लिए सर्वे किया जा रहा है, लोक निर्माण विभाग द्वारा राष्ट्रीय राज मार्ग विभाग को हेण्डओव्हर नही किया गया है, मरम्मत कि जिम्मेदारी वर्तमान में लोक निर्माण विभाग की है - श्री द्विवेदी जी, कार्यपालन अभियंता नेशनल हाईवे    

शेयर करें