news-details

दर्शनीय स्थल शिशुपाल पर्वत के घोडाधार जलप्रपात में संपन्न हुआ मकरसंक्रान्ति मेला

सरायपाली व बसना ब्लाक के एक लौंता दर्शनीय स्थल शिशुपाल पर्वत के घोडाधार जलप्रपात में सोमवार को धुमधाम से मकरसंक्रान्ति का मेला संपन्न हुआ. जिसमें 15 हजार से अधिक भिड होने कि अनुमान लगाया जा रहा हे. इस पर्वत के उपर एक शिव मंदिर भी हे. वाहा जाने के लिए 11 सौ फिट उंचाई का सफर तय करना पडता है. फिर भी श्रधालु उपर जाकर शिव मंदिर में पूजा अर्चना करके आते है. 

इतनी उंचाई में होने के बावजूद वहाँ पर  कई ठेला दुकान लगाये जाते है. घोडाधार जलप्रपात के नीचे दुर्गा मंदिर स्थित हे। इस मंदिर में कई कीर्तन पार्टी भजन कीर्तन करते हे जिसका आंनद हजारों कि संख्या में दर्शक लेते हे। दुर्गा मंदिर में दर्शकों के लिए भण्डारा का ब्यवस्था रहता है जिसमें हजारों कि संख्या में भक्त हिस्सा लेते हे। घोडाधार व दुर्गा मंदिर के  आसपास सड़क पर  दूर तक खिलौना, मिठाई ,गन्ना ,तिललड्ड कि दुकाने लगे रहते है. इस पर्व को लोग बहुत दूर-दूर से देखने को लिए आते हे।

दुर्गा मंदिर के पुजारी शंकर बरिहा का कहना है कि, ये पर्व को बहुत वर्ष पहले से मानते आ आ रहे है. पिछले 4-5 वर्ष से दर्शकों का भीड़ बढती जा रही है. पिछले वर्ष भण्डारा में 10 हजार भक्त हिस्सा लिए थे. उसी हिसाब से इस वर्ष 20 हजार भक्तों के लिए भण्डारा का ब्यवस्था जन सहयोग से रखा गया। जिसमें मुख्य रुप से 20 क्विंटल चावल,7 क्विंटल सब्ज़ी का ब्यवस्था है.

शेयर करें