news-details

ऋण माफी के बाद बिजली बिल हाफ करने की घोषणा स्वागत योग्य - उषा पटेल

पिथौरा। बहुजन सुखाय बहूजन हिताय एवं ग्रामीण विकास पर आधारित बजट में कृषकों की ऋण माफी के बाद बिजली बिल हाफ करने की घोषणा स्वागत योग्य है। कृषि क्षेत्र के लिए समर्पित भूपेश सरकार का बजट छत्तीसगढ़ में खुशहाली लाने वाला साबित होगा। उपरोक्त उदगार प्रकट करते हुए प्रदेश कोंग्रेस सचिव एवं जिला पंचायत सदस्य उषा पटेल ने अपनी प्रतिक्रिया में आगे कहा कि नरवा घुरवा गरवा बाड़ी से नवा छत्तीसगढ़ गढ़बो के संकल्प पर आगे बढ़ते हुए बजट प्रावधान किये गये है, कृषकों के 207 करोड़ के सिंचाई कर माफ किये गये है। ग्रामीण अर्थर्व्यवस्था को सुदृढ़ करने हेतू गोठान निर्माण, गोबर गैस संयत्र की स्थापना एवं जैविक खाद के साथ-साथ 5 फूड प्रोसेसिंग प्लांटो की स्थापना से ग्राम के तालाबों का संरक्षण सहित कुल कृषि बजट में 71 प्रतिशत की वृद्धि से कृषकों को आत्मनिभर्रता की ओर आगे बढ़ाने का कार्य प्रारंभ हो गया है।
सुपेबेड़ा जैसे सुदुर क्षेत्र में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था के साथ ही सभी ग्रामों में शुद्ध पेयजल एवं स्वास्थ्य की उत्तम व्यवस्था का प्रावधान किया गया है। वनवासियों द्वारा संग्रहित वनोपज के मूल्यवृद्धि के साथ-साथ अन्य वनोपजों को शामिल किया
गया है। गरीब परिवारों को 35 किलो चावल प्रतिमाह दिया जाना सुनिश्चित किया गया है। युवाओं को रोजगार प्रदान करने की दिशा में आगे बढ़ते हुए सहायक प्राध्यापकों के पदों पर भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ करने के साथ-साथ पुलिस विभाग में नये पद सृजित कर भर्ती की जावेगी एवं कौशल विकास के माध्यम से 2 लाख युवाओं को रोजगार से जोड़ा जावेगा। खेल को बढ़ावा देने खेल शिक्षकों की भर्ती की जावेगी एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति के छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति एक हजार रुपये प्रतिमाह की जावेगी। शिक्षा की गुणवत्ता हेतु प्रभावी मानिटरिंग व्यवस्था करने की घोषणा की गई है। उत्तम स्वास्थ्य के लिए डाक्टरों की भर्ती के साथ-साथ बिलासपुर में बर्न यूनिट एवं गरियाबंद में सौ बिस्तर अस्पताल की घोषणा की गई है। नये सड़कों एवं सेतु निमार्ण से सुदुर क्षेत्रों को जोड़ने एवं औद्योगिक विकास हेतु प्रबंध किए गए है। छत्तीसगढ़ की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने में यह बजट मील का पत्थर
साबित होगा।

शेयर करें