news-details

फेसबुक पर हर दस हजार में 11 संदेश पाए गए नफरत भरे, कंपनी ने रिपोर्ट में पहली बार उजागर की यह जानकारी

फेसबुक ने अपने प्लेटफार्म पर मौजूद नफरत भरे संदेशों के बारे में पहली बार जानकारी उजागर की है। इस दिग्गज कंपनी ने बताया कि दुनियाभर में उसके प्लेटफार्म पर तीसरी तिमाही के दौरान पोस्ट की गई सामग्री का विश्लेषण किया गया। इसमें हर दस हजार सामग्री में से 10 से 11 संदेश नफरत भरे पाए गए। भारत फेसबुक का बड़ा बाजार है, जहां हाल में नफरत भरे संदेशों से निपटने में इसके तौर-तरीकों को लेकर काफी विवाद खड़ा हुआ था। 

फेसबुक (Facebook) ने जुलाई-सितंबर तक की तीसरी तिमाही की अपनी रिपोर्ट में कहा कि वह दुनियाभर में अपने प्लेटफार्म पर मौजूद नफरत भरे संदेशों के बारे में पहली बार जानकारी साझा कर रहा है। उसने बताया, '2020 की तीसरी तिमाही में हर दस हजार सामग्री के विश्लेषण में 0.10 से 0.11 फीसद यानी 10 से 11 संदेश घृणा से भरे पाए गए। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस में निवेश के कारण कंपनी इस तरह के संदेशों को हटाने में ज्यादा सक्षम हुई है। 

यूजर्स की शिकायत से पहले ही इन्हें हटा दिया गया।' तीसरी तिमाही के दौरान फेसबुक (Facebook) ने दो करोड़ 21 लाख नफरत वाले संदेशों पर कार्रवाई की। फेसबुक ने बताया कि इंस्टाग्राम पर भी घृणा फैलाने वाले पोस्ट पर कार्रवाई की गई। इसके साथ ही फेसबुक ने यह दलील भी दी कि उसके प्लेटफार्म पर पोस्ट होने वाली सामग्री की समीक्षा के काम में कोरोना महामारी के चलते अड़चन आ रही है।

दुनिया में रोजाना एक अरब 82 लाख लोग फेसबुक का इस्तेमाल करते हैं

- तीसरी तिमाही में दो करोड़ 21 लाख नफरत भरे पोस्ट पर कार्रवाई की गई

- इनमें से करीब 95 फीसद की पहचान उकसावे वाले संदेशों के तौर पर हुई

- फेसबुक ने 1.92 करोड़ हिंसक सामग्री वाले पोस्ट पर भी कार्रवाई की

- इंस्टाग्राम पर 65 लाख घृणा वाले पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई की गई


ad

ad

loading...