news-details

सम्पूर्ण नेत्र सुरक्षा कार्यक्रम आज से

कलेक्टर श्री यशवंत कुमार के निर्देशन तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉं. एस.एन. केशरी के मार्गदर्शन 11 से 18 सितम्बर तक सम्पूर्ण नेत्र सुरक्षा कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

शासन के निर्देशानुसार समस्त जिलों में से चिन्हांकित एक विकासखण्ड में सम्पूर्ण नेत्र सुरक्षा कार्यक्रम का आयोजन किया जाना है। जिसमे जिला रायगढ़ के अन्तर्गत विकासखण्ड सारंगढ़ को वर्ष 2018-19 के उपलब्धि अनुसार सत्र 2019-20 में विकासखण्ड के समस्त ग्रामों में प्रत्येक परिवारों का सर्वेक्षण कराना है एवं नेत्र के सभी प्रकार के रोगों की जांच, पहचान, उपचार एवं उचित सलाह दिया जाना है। जिसके अन्तर्गत मेडिकल, ऑप्टिकल तथा सर्जिकल उपचार को सम्मिलित कर दृष्टिहीनता का सर्वेक्षण अन्तर्गत पंजीयन एक ऑंख दोनों ऑख कारण मोतियाबिंद में बाईलेटरल मरीजों की ऑपरेशन की व्यवस्था, ग्लॉकोमा मरीजों का परीक्षण, पंजीयन, उपचार केरेटोप्लास्टी हेतु कॉर्नियल ओपेसिटी मरीजों का पंजीयन एवं मोडिकल कॉलेज स्तर पर परीक्षण, रेटिनोपेथी मरीजों में डायबेटिक मरीजों की खोज एवं लेजर उपचार, दृष्टिदोष परीक्षण कर स्कूली बच्चों को निरूशुल्क चश्मा वितरण, लो विजन मरीज का पंजीयन एवं लो विजन सेंटर में परीक्षण दृष्टिहिन मरीजों का पंजीयन एवं दिव्यांग प्रमाण पत्र के साथ साथ पुनर्वास हेतु उचित सलाह स्वास्थ्य शिक्षा अन्तर्गत नेत्र विकारों से बचाव, त्वरित उपचार, नियमित उपचार हेतु स्वास्थ्य शिक्षा का एवं रेफरल को सम्मिलित किया गया है।

कार्यक्रम के सफल संचालन हेतु महिला/पुरूष ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक के द्वारा प्राथमिक सर्वेक्षण प्रपत्र अ एवं ब में किया जाना है। इस हेतु ग्राम स्तर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानिन का सहयोग लिया जाएगा। सर्वेक्षित चिन्हित मरीजों का सत्यापन एवं परीक्षण नेत्र सहायक अधिकारी द्वारा किया जावेगा। सर्वेक्षण एवं परीक्षण के संबंध में विकासखण्ड सारंगढ़ के समस्त मितानिन प्रेरकों जिले के समस्त नेत्र सहायक अधिकारियों को विकासखण्ड सारंगढ़ के महिला एवं पुरूष आर.एच.ओ., पर्यवेक्षक एवं समस्त सेक्टर प्रभारियों को तीन चरणों में प्रशिक्षण दिया गया है।