news-details

पुलिस अधीक्षक ने कहा just999 बाइक दिलाने के नाम पर 28 हजार लेकर फर्जी तरीके से कर रही काम.

रूपधर चौधरी का सोशल मिडिया में वीडियो पोस्ट किये जाने के बाद, रूपधर चौधरी द्वारा कही गई बातें विडियो के माध्यम से cgsandesh.com  ने शेयर किया था. जिसमे रूपधर चौधरी खुद को और उसकी कंपनी को पूरी तरह से  सही बताते नजर आ रहे है.

जिस पर पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र शुक्ला ने  cgsandesh.com  को बताया कि अगर कंपनी एमडी ने धोखाधड़ी नहीं की है तो उसे पुलिस से छुपने की क्या जरुरत है ? पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उसने कंपनी के दस्तावेज (डॉक्यूमेंट) जिस आधार बनवायें है वह उस प्रक्रिया के तहत कार्य नहीं कर रहा है. कोई भी कंपनी किसी से पैसा लेकर इस तरह ऑनलाइन के माध्यम से जमा नहीं कर सकती है.

उन्होंने बताया कि जो पैसा जमा कराया जा रहा है वह पूरी तरह से फर्जी है, उन्होंने बताया कि just999 के माध्यम से 28 हजार रुपये बाइक दिलाने के नाम पर लिया जा रहा है, फिर उन्ही के पैसों से 8 हजार रुपये जमा करवा कर एक हलफनामा लिया जा रहा है, जिसमे बाइक के नाम पर 8 हजार रुपये डाउन पेमेंट कर बाकी पैसा इनस्टॉलमेंट के माध्यम से भरना बताया जा रहा है. जिसका की कोई दस्तावेज नहीं है. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी के इस तरह के गलत विडियो जारी कर अपने आप की सही नहीं कर सकता है.

देखा जाए तो प्रलोभन देकर ऑनलाइन से लोगों का पैसा इस तरह से जमा करवाना पूरी तरह से गलत है, केवल पेमेंट बैंक ही आरबीआई के गाइडलाइंस के माध्यम से इस तरह ऑनलाइन लोगों का पैसा ई वालेट के माध्यम से रख सकते है. नहीं तो ऐसी कंपनी में कभी किसी तरह का कोई फ्राड होने की संभावना है जिसमे कई लोगों के करोड़ो रुपये तक डूब सकते है.

सूत्रों की माने तो रूपधर चौधरी अपने आप को बचाने के लिए ऐसे विडियो वायरल कर रहे है, जबकि इस कंपनी को बचाए रखने के लिए कई लोगों को रिश्वत के तौर पर पैसे देने की भी बात सामने आ रही है. वहीं अब भी just999 अभी भी चालू है, जिसमे लोग अभी भी काम होने की बात कह रहें है जिसे बंद करवाकर पुलिस को अपनी निगरानी में लेनी चाहिए.