news-details

विधायक ने लिखा डॉ. रमन सिंह यह बताएं 300 रुपये प्रति क्विंटल बोनस, आगामी 5 वर्ष तक देने का संकल्प किससे पूछ कर लिया था.

छत्तीसगढ़ में धान खरीदी को लेकर कांग्रेस और बीजेपी ने एक दुसरे पर सवाल उठाना शुरू कर दिया है. धान खरीदी के मूल्य को लेकर पत्र वायरल होने के बाद बीजेपी समर्थक कांग्रेस को वादा खिलाफी सरकार बताने लगे. बीजेपी समर्थक और नेताओं का कहना है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार धान का समर्थन मूल्य 2500 रु देने का घोषणा किया था और जब धान खरीदी का समय आया तो केन्द्र का हवाला देकर किसानों के साथ छलावा किया जा रहा है.

इसके बाद खल्लारी विधायक द्वारकाधीश यादव ने अपने फेसबुक पेज में एक पोस्ट डालते हुए शेयर किया है कि डॉ. रमन सिंह जी यह बताएं 2013 के विधानसभा के पूर्व उन्होंने किसानों का धान 2100 रु. प्रति क्विंटल की दर से लेने तथा 300 रु. प्रति क्विंटल बोनस आगामी 5 वर्ष देने का संकल्प किससे पूछ के किया था.

दरसल केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित धान खरीदी का मूल्य वाला एक पत्र वायरल होने के बाद किसान अब यही समझने लगे है की धान का समर्थन मूल्य अब 2500 के जगह 1800 रु के हिसाब से मिलेगा.

वहीं मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने कहा है कि पूरा प्रदेश में मंदी के दौर चलत हे,  लेकिन छग प्रदेश मं मंदी नई हे,  हमन 2500 रुपया क्विंटल मं धान खरीदे के वादा करे हन अऊ खरीदबो, लेकिन एमां एक ठन अड़ंगा लगा दे हे केंद्र के सरकार ह.

केंद्र सरकार आदेश जारी करे हे कि किसान मन ल बोनस दे हे मं सेंट्रल पुल मं अनाज नई खरीदे. एकर बर में केंद्र सरकार के मंत्री से भेंट करे रहें,  नियम ल शिथिल करे बर कहें. प्रधानमंत्री ल चिट्‌ठी लिखके समय मांगे हन. लेकिन एकर बर सब किसान मन ल प्रधानमंत्री ल चिट्‌ठी लिखेबर लागही. काबर कि बिना रोय तो महतारी घला ह लइका ल दूध नई पियावय. गांव के सब किसान चिट्‌ठी लिखा व प्रधानमंत्री ल भेजो....