news-details

अन्तरिक्ष में कृत्रिम चाँद भेजेगा चीन

चीन अंतरिक्ष में कृत्रिम ''चांद'' लॉन्च करने जा रहा है जिससे उम्मीद है कि यह देश के सबसे बड़े शहरों में से एक को रोशन करेगा. इस कृत्रिम चांद की रोशनी असली चांद से आठ गुना ज्यादा होगी
एशिया टाइम्स की खबर के मुताबिक चीन के सिचुआन प्रांत की राजधानी चेंगदू ने घोषणा की है कि 2020 तक वो अंतरिक्ष की कक्षा में एक सैटेलाइट स्थापित करेगा जो सूर्य की रोशनी को प्रतिबिंबित कर रात में शहर को रोशन करेगा. सैटेलाइट एक परावर्तक कोटिंग का इस्तेमाल करेगा जिससे प्रतिबिंबित होने वाली रोशनी धरती के 50 वर्ग मील क्षेत्र को रोशनी प्रदान करेगा.

चेंगदू शहर के अधिकारियों का दावा है कि इस सैटेलाइट की रोशनी इतनी होगी की इससे शहर में स्ट्रीट लाइट्स की जरूरत ही नहीं पड़ेगी.
चीन को उम्मीद है की यह तकनीक बीजली के मुकाबले अच्छी विकल्प होगी. यह लॉन्च 1999 के रूसी शोधकर्ताओं के प्लान पर आधारित है जिसमें कक्षा में रखे गए दर्पण की मदद से साइबेरिया के शहरों को रोशन करने की योजना बनाई गई थी.

यह क्रांतिकारी विचार चीन के बिजनेसमैन और चेंगदू एयरोस्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम रिसर्च इंस्टिट्यूट के अध्यक्ष वू शुनफेंग के दिमाग की उपज है.
रिपोर्ट्स के मुताबिक चेंगदू शहर में कई सालों से कृत्रिम चांद की तकनीक का मूल्यांकन किया जा रहा और इसके कई दफे इसके टेस्ट के बाद तय किया गया कि यह तकनीक अब लॉन्च के लिए तैयार है. शुनफेंग का कहना है कि प्रारंभिक टेस्टिंग पूरी कर ली गई है और 2020 तक यह सैटेलाइट तैयार हो जाएगी.

एक तरफ इसे क्रांतिकरी उपलब्धि कही जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ इस कृत्रिम चांद के इस्तेमाल पर सवाल खड़े होने लगे हैं कि रात न होने की वजह से इसका दुष्प्रभाव शहर और आसपास के जानवरों पर पड़ेगा.

शेयर करें