news-details

डॉ. केशव को हेल्थ आइकॉन अवार्ड्स 2019 से नवाज़ा गया.

कोंडागांव जिले के नक्सल इलाके पदस्थ डॉ. केशव चन्द्र साहू को दूरस्थ अंचलो में उनके क्षेत्र में बेहतरीन एवं सराहनीय कार्य के लिए  हेल्थ आइकॉन अवार्ड्स 2019 से नवाज़ा गया है. यह अवॉर्ड् छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा दिया है. डॉ केशव ने नक्सल क्षेत्र में आकर यहाँ की प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की बदल दी तस्वीर. आज मर्दापाल का हर के हर व्यक्ति को प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र में सारी सुविधाएं प्राप्त हो जाती है. कहते हैं डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है. कुछ डॉक्टर ऐसे भी हैं जो मरीजों की सेवा कर उन्हें दूसरा जीवन देते है. जब कोई मरीज बीमार होकर मुसीबतों से घिर जाता है तो ऐसे समय में डॉक्टर ही उसे मुसीबत से निकालकर बाहर लाता है. हालाकिं आज के समय में कुछ लोगों ने डॉक्टरी को अपना पेशा बना लिया है और केवल कमाई के उद्देश्य से ही डॉक्टरी कर रहे है.

हालाकि सभी डॉक्टर ऐसे नहीं होते, कुछ डॉक्टर ऐसे भी होते है जो निष्ठा पूर्वक दिन-रात मरीजों की सेवा करते है. आज हम आपको बताएँगे एक ऐसे ही डॉक्टर के बारें में जिसने अपनी सेवा भाव से ग्रामीणों व स्वास्थ संचालक का  दिल जीता.

छत्तीसगढ़ के कोंडागांव जिले के मर्दापाल में स्थित एक प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र में पदस्थ डॉ. केशव चन्द्र साहू ने मर्दापाल क्षेत्र में चिकित्सा को ऐसे मुकाम पर पहुँचा दिया की आज इस क्षेत्र का हर व्यक्ति यह चाहता है कि डॉ. केशव उनके बीच ही रहे. शायद इसलिए क्योंकि मर्दापाल के लोगों को इससे पहले कभी ऐसा डॉक्टर नहीं मिला था. सरकारी व्यवस्था लाचार थी इसलिए इलाके में झोलाछाप डॉक्टरों का बोल बाला था, गलत इलाज कर के भी वे मरीजों को लुटने का काम करते थे. डॉ. केशव साहू के आने के बाद जिले के सुदुर गांव मर्दापाल में समिति संसाधन से कई गुना डिलिवरी व भर्ती मरीजों की संख्या बड़ी, अन्य राष्ट्रीय व क्षेत्रीय कार्यक्रम के बेहतर रिपोर्ट स्वास्थ संचालन को  मिलने पर डॉ. केशव साहू को माननीय मुख्यमंत्री के हाथों छत्तीसगढ़ का उत्कृष्ठ चिकित्सक का सम्मान मिला. जिससे महासमुंद जिले के बसना सहित मर्दापाल और कोंडागांव जिले और का ना रोशन हुआ.

डॉ. केशव इस सम्मान का श्रेय अपने माता पिता, जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एस ओ कंवर, ब्लाक चिकित्सा अधिकारी आर के सिंह सहित पुरे ग्रामीणों को दिया है.



शेयर करें