news-details

महिला के प्रति बसना पुलिस का ऐसा सम्मान की 48 घंटे बाद भी नहीं हो रही कोई कार्रवाही.

शिकायत के बावजूद किसी प्रकार की कार्रवाही ना बसना पुलिस का पेशा बन चूका है. मगर जब बात महिला के सम्मान की हो तो भी पुलिस ऐसा ही रवैया अपनाएगी ये बाद शायद स्कूल में पढ़ रही कोई भी लड़की नहीं सोच सकती. जिस स्कूल में लड़कियों को हमर पुलिस हमर संग के तहत पुलिस और आम लोगों के बीच दुरी कम करने की बात कही जाती है, महिलाओं में प्रति सदैव तत्पर रहने को कहती है मगर वास्तविकता में तो उसका कोई अस्तित्व ही नहीं.


हमर पुलिस हमर संग के कार्यक्रमों की बड़ी-बड़ी बातें किसी भी थाने में प्रवेश के साथ फिसड्डी साबित हो जाती है. पुलिस का रवैया ऐसा हो चूका है कि ना केवल आम जनता बल्कि पत्रकार भी इनसे त्रस्त हो गए है. कुछ दिन पूर्व जनता की आवाज़ उठाने वाला पत्रकार भी इनकी दुर्व्यवहार सुनकर चुप रह गया और बड़े आला अफसर भी ख़ामोशी से इसके मजे लेते रहे. कुल मिलाकर देखा जाए तो पुलिस प्रशासन तानाशाही हो चुकी है और अपने मन के मुताबिक काम करती है.

बसना थाना अंतर्गत एक 19 वर्षीय लड़की विगत 4 दिनों से गायब है. परिजनों का कहना है की उनकी बेटी कहाँ है कैसी है जीवित है की मृत है इसकी कोई जानकारी नहीं है. लड़की के साथ कोई अप्रिय घटना ना हो ये शंका है परिजनों को लगातार होने लगी है. बावजूद इसके पुलिस की कार्रवाही में कोई दम दिखता नजर नहीं आ रहा है.


पुलिस का रवैये भी इस तरह का है कि उन्होंने महासमुंद के बजरंग दल जिला सयोजक महेंद्र साव से यह भी कह दिया कि मेरे मन से कार्यवाही करूँगा. बसना नगर के कई सोशल मिडिया ग्रुप में अब पुलिस के ख़िलाफ लोग अपना आक्रोश दिखा रहे है. जबकि पुलिस अपना मौन कायम रखी है.  


फिलहाल लड़की के लापता हुए अब 48 घंटे से अधिक हो चुके है और पुलिस कार्रवाही में किस बात के लिए देरी कर रही है यह समझ से परे है.  

शेयर करें