news-details

just999 के एमडी रूपधर चौधरी का सामने आया विडियो, कंपनी को बताया पूरी तरह से सही.

सरायपाली थाना अंतर्गत just 999 के ख़िलाफ धोखाधड़ी की शिकायत होने के बाद इस मामले में फ़रार बताये जा रहे रूपधर चौधरी का विडियो सामने आया है जिसमे वे अपने और अपने कंपनी की सफाई देते नजर आ रहे है. उनका कहना है कि जस्ट 999 कोई चिटफंड कंपनी नहीं है बल्कि प्रोडक्ट बेस कंपनी है.

रूपधर चौधरी ने बताया है कि कंपनी के वेबसाइट में डिस्क्लेमर से लेकर प्लान खत्म होते तक इसे प्रोडक्ट बेस कंपनी बनाया गया है. उनका कहना है कि कुछ लालची लोगों की वजह से कंपनी के व्यवसायिक योजनाओं का मार्केट में गलत तरीके से प्रचार हो गया. जिसके चलते जस्ट 999 को गलत ठहराया जा रहा है.

Just 999 में शिक्षकों का नाम आने के बाद बर्खास्त की कर रहे है माँग.

रूपधर चौधरी का कहना है कि उनकी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड होने के साथ पूरी तरह से लीगल है, कंपनी टीडीएस और जीएसटी दोनों का भुगतान करती है. इतना ही नहीं कंपनी के एमडी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज होने के बाद अभी भी इससे जुड़े लोगों का भुगतान किया जा रहा है और प्रोडक्ट भी बिक रहें है.

वहीं just 999 से जुड़े लोगों का भी कहना है कि अब भी उनके माध्यम से प्रोडक्ट की बिक्री की जा रही है और रिवॉर्ड भी मिल रहे है. वहीं इस कंपनी में बाइक, कार और प्रोडक्ट ख़रीदी के लिए अलग-अलग नियम शर्त रखे गए है.

जानकारी के अनुसार इस ऑनलाइन मार्केटिंग कंपनी का मौखिक प्रचार कर जब कोई किसी अन्य को प्रोडक्ट कंपनी के माध्यम से बेचता है तो कंपनी उसे मुनाफ़ा देती है. जिसके तहत लोग बाइक या अन्य चीजों का भुगतान कर रहें है.

पुलिस अधीक्षक ने कहा just999 बाइक दिलाने के नाम पर 28 हजार लेकर फर्जी तरीके से कर रही काम.