news-details

बसना के समाजसेवीयों ने प्रवासी मजदूरों के लिए कराई बिस्किट, पानी, भोजन एवं बच्चों के लिए दूध की व्यवस्था.

मजदूरों के नंगे पाव देख उन्हें उपलब्ध कराई चरण पादुका.

विपदा की इस घड़ी में बसना के नवयुवकों का एक छोटा सा विनम्र सेवाभाव.

बसना  कोरोना संक्रमण के बीच लॉक डाउन के कारण अन्य राज्यों से छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती जिलों में प्रवेश करने वाले प्रवासी मजदूरों, यात्री जो भीषण गर्मी में छत्तीसगढ़ आ रहें है और बिना चरण पादुका के सफर कर रहे है उनके लिए बसना के नवयुवक समाज सेवकों ने सभी जरूरतमंदों को चरण पादुका प्रदाय किया जा रहा है।

बसना के समस्त धर्म समुदाय के लोगों द्वारा आपसी भाईचारे सद्भावना योजना के तहत और बसना वासियो के मार्गदर्शन में जिले के सीमावर्ती चेक पोस्ट के चालीस किमी पहले बसना के आगे सुनसान सड़को में प्रवासी मजदूरों को भोजन, पानी व जरूरतमंद श्रमिकों को चरण पादुका का वितरण किया जा रहा है साथ ही प्रशासन के सहयोग से श्रमिकों को उनके जिले के बार्डर तक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था भी कराई जा रही है।

कोरोना वायरस के संकट की घड़ी में संक्रमण को रोकने महासमुंद जिले के सरहद एवं चौक-चौराहों में पुलिस बल की तैनाती की गई है। बसना बायपास में समाज सेवी नवयुवकों के नेतृत्व में महासमूंद जिले के बसना में उड़ीसा राज्य सरहद से लगे विभिन्न सड़क मार्ग में स्टाल लगाकर 15 मई से चौबीसों घंटा मुस्तैदी से अपने कर्तव्य निभा रहे है। इनकी टीम कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्राप्त समस्त निर्देशों का पालन करते हुए माननीय संवेदना को ध्यान में रखकर धैर्यतापूर्वक अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर बसना सराईपाली बायपास नेशनल हाईवे क्रमांक 353 पर दूसरे प्रदेशों से आने वाले झारखंड, उत्तरप्रदेश कलकत्ता पश्चिम बंगाल,उड़ीसा एवं बिहार के प्रवासी मजदूर काफी संख्या में प्रतिदिन गुजरते है जिनके लिए भोजन, पानी, बच्चों के लिए दूध की व्यवस्था एवं जरूरतमंद श्रमिकों को चरण पादुका वितरित की जा रही है। संकट की घड़ी में प्रवासी मजदूरों को मदद के साथ ही बसना की पुलिस सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने की समझाईश एवं उन्हें मास्क पहनने के लिए जागरूक कर मास्क का वितरण किया जा रहा है।

बसना नगर के सभी समाज के सभी धर्म वर्ग इस विपत्ति के समय लोगों की मदद कर रहे है साथ ही पुलिस भी कोविड-19 से जारी जंग के बीच अपने कर्तव्यों के साथ-साथ प्रवासी मजदूरों की मदद करते दिखाई दे रही है।

बसना के राहत शिविर में जरूरतमन्दों की दिन रात सेवा हो रही है नागरिक बन्धुओ से अपील है कि इस रिलीफ केम्प बसना से जुड़ना चाहते हों तो दिए गए मोबाईल नम्बर पर काल करें 7746053039,7000406637,9893323348,8602361000बसना के समाज सेवी लोगों द्वारा प्रवासी मजदूरों के लिए बिस्किट, पानी, भोजन, छोटे बच्चों के लिए दूध एवं नंगे पांव वाले प्रवासी मजदूरों के लिए चरण पादुका की व्यवस्था कर रही है, साथ ही प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक भेजने बस से झारखंड बिहार एवं उत्तरप्रदेश के बॉर्डर तक भिजवाया जा रहा है।

विपदा की इस घड़ी में पुलिस और बसना के समाजसेवको का यह एक छोटा सा विनम्र सेवाभाव है जिसके तहत श्रमिक भाईयों को मदद पहुंचाई जा रही है।



ad

ad

ad
loading...