news-details

आखिरी दिन टी सेशन ऑस्ट्रेलिया के नाम, लेकिन मैच में बनी हुई है टीम इंडिया

टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेला जा रहा तीसरा टेस्ट मैच आखिरी दिन बेहद ही रोमांचक स्थिति में पहुंच गया है. आखिरी सेशन में टीम इंडिया को जीत के लिए 36 ओवर में 127 रन बनाने की जरूरत है, जबकि ऑस्ट्रेलिया को अभी पांच विकेट और हासिल करने होंगे. टी टाइम तक पांच विकेट पर 280 रन बना लिए हैं.

टी टाइम तक हनुमा विहारी 4 और रविचंद्रन अश्विन सातार रनों पर खेल रहे थे. भारत ने दूसरे सत्र में चेतेश्वर पुजारा (77) और ऋषभ पंत (97) के विकेट गंवाए. इन दोनों के रहते भारत जीत के लिए खेल रहा था लेकिन अब उसे मैच बचाने के लिए खेलना होगा.

पुजारा-पंत ने किया कमाल

लंच तक पुजारा 41 तथा 73 रनों पर नाबाद थे. उस समय तक भारत ने तीन विकेट पर 206 रन बनाए थे. लंच के बाद पंत और पुजारा की शानदार पारी जारी रही. पंत तेजी से आस्ट्रेलिया में अपने दूसरे और कुल तीसरे शतक की ओर बढ़ रहे थे. इसी बीच पुजारा ने टेस्ट मैचों में अपने 6000 रन और फिर अपना 27वां अर्धशतक पूरा किया.



79वें ओवर की पहली गेंद हालांकि पंत के लिए घातक साबित हुई क्योंकि लॉयन की गेंद को प्वाइंट के ऊपर से उठाकर मारने के प्रयास में पंत लपके गए. पंत का विकेट 250 के कुल योग पर गिरा. पंत ने 118 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौके और तीन छक्के लगाए.

पंत और पुजारा ने चौथी पारी में 148 रनों की साझेदारी की, जो टेस्ट मैचों में भारत के लिए चौथी बारी में इस विकेट के लिए सबसे सबसे बड़ी साझेदारी है. इसके बाद पुजारा ने नई गेंद के साथ आए पैट कमिंस के ओवर में लगातार तीन चौके लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिए लेकिन लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहे जोस हेजलवुड ने 272 के कुल योग पर उन्हें बोल्ड कर भारत को बड़ा झटका दिया. पुजारा ने 205 गेंदों का सामना कर 12 चौके लगाए.

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी 6 विकेट के नुकसान पर 312 रन बनाकर घोषित की थी और उसके पार पहली पारी में 94 रन की बढ़त हासिल थी. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 338 रन बनाए थे और इंडिया 244 रन बनाकर ऑलआउट हो गया था. चार मैचों की सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं. आस्ट्रेलिया ने जहां एडिलेड में खेला गया डे-नाइट टेस्ट 8 विकेट से जीता था वहीं भारत ने मेलबर्न में इसी अंतर से जीत हासिल करते हुए बराबरी की थी.






ad

ad

loading...