news-details

ट्रैफिक चालान को लेकर बड़ी खबर, नियम तोड़ने पर अब बचना मुश्किल, हो गया ये काम

ट्रैफिक चालान को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। आपको सलाह दी जाती है कि कार, मोटरसाइकिल, स्कूटर या अन्य किसी भी तरह का वाहन चलाते समय नियमों का पूरी तरह पालन करें। ऐसा ना करने पर आप मुश्किल में पड़ सकते है। दरअसल चेन्नई में ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करने वालों के लिए अब पेटीएम क्यूआर कोड का इस्तेमाल करके भी जुर्माने का भुगतान करवाया जाएगा। चेन्नई पुलिस ने चालान का भुगतान कराने के लिए डिफॉल्टरों के अनुरोध पर इस सुविधा को जोड़ा है।

चेन्नई ट्रैफिक पुलिस मार्च 2018 में कैशलेस ई-चालान सिस्टम पर काम कर रही है, लेकिन उन्होंने चालान (जुर्माना) भुगतान में कई विसंगतियां पाई हैं। रिकॉर्ड बताते हैं कि बड़ी संख्या में ऐसे डिफॉल्टर्स थे जिन्होंने अपने जुर्माने का भुगतान नहीं किया है।

पुलिस ने हाल ही में शुरू किए गए कॉल सेंटरों के माध्यम से जिन्होनें चालान नहीं दिया था उनको इसके बारे में याद दिलाना शुरू किया और 21 प्रतिशत से 47 प्रतिशत के का सुधार देखा।

यह पाया गया कि कॉल सेंटरों द्वारा संपर्क किए जाने पर लोग अपने बकाया का भुगतान करने के लिए तैयार थे, लेकिन भुगतान के साथ कठिनाइयों का कारण बताया। उन्होंने भुगतान के तरीकों में सुधार के लिए पुलिस से भी आग्रह किया।

इसके बाद चालान के भुगतान की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए, ग्रेटर चेन्नई ट्रैफिक पुलिस ने चेकिंग स्पॉट पर एक पेटीएम क्यूआर कोड लाने का फैसला किया। 200 से अधिक की प्रशिक्षण प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। ये अधिकारी हैंडहेल्ड क्यूआर कोड कार्ड के माध्यम से जुर्माना भरने के लिए मार्गदर्शन करेंगे।

योजना के तहत सभी चालान काटने वाले अधिकारियों को 300 छोटे हैंडहेल्ड क्यूआर कोड कार्ड दिए जाएंगे। ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले लोग चालान भरने के लिए कार्ड से क्यूआर स्कैन कर सकते हैं, जो पेटीएम ऐप ई-चालान पेज पर ले जाएगा। चालान आईडी और वाहन नंबर डालने करने के बाद, चालान भरने वाले यूपीआई सहित सभी भुगतान मोड का इस्तेमाल करके भुगतान पूरा कर सकते हैं।




क्लासिफाइड विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9131581090

क्लासिफाइड