news-details

महासमुंद : कोरोना के संक्रमण से बचने जिला चिकित्सालय ने बनाया अपना सिनेटाइजर. बाजार में मिलने वाले आम सिनेटाइजर से दस गुना सस्ता और बेहतर

बाजार में मिलने वाले आम सिनेटाइजर से दस गुना सस्ता और बेहतर होगा सरकारी सिनेटाइजर।

‘‘जिला चिकित्सालय में एका-एक बढ़ी सिनेटाइजर की मांग की आपूर्ती को पूरा करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी निधार्रित मानदंड का अनुसरण करते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अफसर और कर्मचारियों ने स्वयं सिनेटाइजर बना कर किया चिकित्सालय में वितरित‘‘

महासमुंद 25 मार्च 2020 / कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आने का भय सबको है। दवा दुकानों में भी हैंड रब सिनेटाजर और मास्क के लिए लंबी कतारें भी आसानी से देखी जा सकती हैं। ऐसे में लगातार विभिन्न किस्म के वासरस और कीटाणुओं के संपर्क में आने वाले स्वास्थ्यकर्मियों के लिए एक अच्छी खबर है। जिला स्वास्थ्य सेवाओं अंतर्गत राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में पदस्थ आरएमएनसीएचए सलाहकार श्री संदीप चंद्राकर और उनके सहयोगी फार्मासिस्ट श्री पंकज साहू ने जिला चिकित्सालय में अपना हैंड रब सिनेटाइजर तैयार कर लिया है। बता दें कि इस सिनेटाइजर को गहन अध्ययन और विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी निधार्रित मानदंडों के अनुरूप तैयार किया गया है। जो पूरी तरह से कारगर और मददगार साबित हो रहा है। जिला चिकित्सालय की लैब बने इस सिनेटाइजर को पहले पांच सौ मिलीलीटर की मात्रा में पायलट प्रोजेक्टर के रूप मे जांचा और परखा गया।

विशेषज्ञों सहित स्वास्थ्यकर्मचारियों ने इसे हरी झंडी दी। इसके बाद प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आरके परदल के निर्देशानुसार तत्काल प्रभाव से सभी आवश्यक रसायनों को एकत्र कर बीस लीटर सिनेटाइजर का नया बैच तैयार कर जिला चिकित्सालय के स्वास्थ्य अमले को वितरित किया गया। श्री चंद्राकर ने बताया कि इसे विशेष तौर पर कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए तैयार किया गया है। गुणवत्ता जांच के बाद यह भी स्पष्ट हो गया कि यह कोरोना वायरस सहित अन्य अधिकांश संक्रमणों को रोकने में भी उपयोग में लाया जा सकेगा। उनके मुताबिक विश्व स्वास्थ्य संगठन दुनिया की सबसे प्रमाणिक जानकारी प्रस्तुत करती है, इसलिए इस हैंड रब सिनेटाइजर को बनाने के लिए उनके मानदंडों का विशेष रूप से ध्यान रखा गया है। बताया जा रहा है कि इन विषम परिस्थतियों में स्वास्थ्यकर्मियों सहित चिकित्सालय में उपचार कराने आ रहे मरीजों लिए भी यह सिनेटाइजर संक्रमण रोकने में रामबांण साबित होगा।