news-details

बसना : 9 स्टॉप डेम के निर्माण से इन गांवों के हजारों किसानों को मिलेगा लाभ, रुर्बन मिशन के तहत हो रहा हैं निर्माण, जिला सीईओ सहित जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने किया निरीक्षण.

रुर्बन मिशन के अंतर्गत 9 नग स्टॉप डेम निर्माण हो रहा है. इस योजना के अंतर्गत लगभग उमरिया, भँवरपुर, बरतियाभाठा, उड़ेला, परसकोल, पलसापाली में इन चेक डेम का निर्माण किया जा रहा है. रुर्बन मिशन के तहत कृषि विभाग के देख रेख में इन गांवों में स्टॉप डेम तैयार किया जा रहा है जिसमे हजारो किसानों को इसमे लाभ मिलेगा.

जहाँ आज महासमुन्द जिला पंचायत सीईओ डॉ. रवि मित्तल और जल संसाधन विभाग के अधिकारी कार्यपालन यंत्री जेके चंद्रकार, सिचाई विभाग के अधिकारी एस आर डोंगरे औऱ बसना जनपद सीईओ सोनवानी ने बसना क्षेत्र के भँवरपुर, बरतियाभाठा, उमरिया और पलसापाली में बन रहे स्टॉप का निरीक्षण किया.


जिला सीईओ और जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने कृषि विभाग द्वारा की जा रही स्टॉप डेम के कार्यों को सराहा और गुणवत्ता युक्त स्टॉप डेम बनने की बात कही.

कृषि विभाग से अधिकारी द्वारा बताया की यह कार्य रूर्बन मिशन के तहत करवाया जा रहा है. प्रत्येक स्टॉप डेम के निर्माण के लिये लगभग 20 लाख रु से कुछ कम की राशि जारी किया है. जिसमे प्रत्येक स्टॉप डेम निर्माण में आस-पास के मजदूरों को भी कार्य मिल रहा है.

बताया गया कि 190 रुपये की रोजी के अनुसार मजदूरों को भुगतान किया जा रहा है, जिसमे आस-पास के सैकड़ो मजदूर प्रतिदिन कार्य करते है.अभी वर्तमान में 40 प्रतिशत कार्य पुरा हो चुका है, और बरसात के पहले-पहले निर्माण कार्य पूर्ण करने के लिए विभाग लगातार प्रयास कर रहा है.


स्टॉप डेम निर्माण में सम्बन्धित गांव के सरपंचो ने भी गुणवत्ता युक्त डेम निर्माण बनाने के लिए विभाव के अधिकारियों को ध्यान देने कहा गया था, जिसके बाद विभाग के उच्च अधिकारियो ने दौरा किया और दौरान निरीक्षण कर उच्च गुणवत्ता के साथ कार्य करवाने का भरोषा दिलाया गया है.

ज्ञात हो कि इन गांवों में बहने वाले छोटे नदियो का पानी बेवजह बह जाता है, इसके निर्माण के बाद स्टॉप डेम में पानी जमा होगा और गर्मियों में भी पानी का लाभ मिलेगा. जिसे किसान अपने उपज का फायदा ले सकते है, पानी के कमी के समय में किसानों को इसका लाभ जरुर मिलेगा.


वही आज इन गांवों स्टॉप डेम निर्माण में अधीकारियों के निरीक्षण के दौरान किसान भी मौजूद रहे. जहाँ किसानों को फायदा होगा या नही इस बात को अधिकारीयो ने किसानों से पूछा वही किसानों ने भी स्टॉप डेम निर्माण से खेतों में पानी के सिचाई के लिए आसानी होगी बताया.

वही कृषि विभाग के अधिकारी ने बताया कि स्टॉप डेम के निर्माण से पानी के कमी के समय पम्प के सहारे पानी सिचाई किया जा सकेगा. वही आस पास के वाटर लेबल में भी बढ़ोतरी आएगी जिसके कारण आस पास के ट्यूबवेल में ज्यादा मात्रा में पानी की सिचाई खेतो में होगा जिससे किसानों को लाभ मिलेगा.

ad

ad

ad
loading...