news-details

अच्छी खबर:-कलेक्टर की पहल अस्पतालों के उन्नयन के लिए मिलेंगे 6 करोड़...2.5 करोड़ में तैयार होगा पुसौर अस्पताल, 07 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए भी दिए जा रहे हैं 50-50 लाख...शासकीय अस्पतालों के होगा कायाकल्प....!

कलेक्टर भीम सिंह ने जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की दिशा में एक अभिनव पहल की है। जिसके तहत सीएसआर मद से जिले के प्रमुख शासकीय अस्पतालों का कायाकल्प करने की विस्तृत कार्य योजना तैयार की गई है। 6 करोड के बजट वाले इस कार्य योजना में प्रमुख रूप से पुसौर में 2.5 करोड़ के बजट से नया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तैयार होगा और जिले के 07 अन्य सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों जिनमें धरमजयगढ़, लैलूंगा, घरघोड़ा, बरमकेला, सारंगढ़, खरसिया व लोईंग को उन्नयन के लिए 50-50 लाख रुपए की राशि मिलेगी। इस राशि से अस्पतालों में उपचार व पैथोलॉजी टेस्टिंग के लिए जरूरी उपकरणों की खरीदी के साथ भवन मरम्मत व निर्माण कार्य किया जाएगा। नवनिर्मित तमनार सीएचसी को उपकरण खरीदी के लिये राशि दी जाएगी।

कलेक्टर कहते हैं कि इससे जिले के स्वास्थ्य सेवाओं को और मजबूती मिलेगी, खासकर जिले के दूरस्थ अंचल में रह रहे लोगों को इलाज के लिए अब दूर नहीं जाना होगा और अपने गावों के पास के अस्पतालों में पहले से ज्यादा बेहतर इलाज और टेस्टिंग सुविधाएं मिल पाएंगी।

चिकित्सा व लैब उपकरणों की खरीदी के साथ सुधारी जाएंगी बिल्डिंग्स-

कलेक्टर श्री सिंह ने कार्ययोजना में हेल्थ सर्विस और मैन पावर पर फोकस रखा है। इसके लिए अस्पतालों में अच्छे इलाज के साथ टेस्टिंग सुविधाओं का दायरा बढ़ाने की कवायद की जा रही है। चार अस्पतालों धरमजयगढ़, घरघोड़ा, खरसिया व सारंगढ़ खरसिया में एक्स-रे मशीन दिया जा रहा है। जिसकी टेंडर प्रक्रिया अंतिम चरण पर है तथा अगले एक माह के भीतर मशीन अस्पतालों को उपलब्ध करा दी जाएगी। साथ ही सर्जिकल और पैथालॉजी लैब उपकरण के साथ डेंटल, ऑर्थोपेडिक, ऑपरेशन थियेटर के लिये जरूरी उपकरण खरीदे जाएंगे। इसके साथ ही अस्पतालों के कायाकल्प के लिए भवन की मरम्मत खिड़की दरवाजे की टूट-फूट ठीक करने के साथ आरओ वाटर कूलर सीसीटीवी जैसी सुविधाएं भी जुटाई जाएंगी। एनआरसी केंद्रों के रिनोवेशन व सुविधा विस्तार के साथ रहने वाले बच्चों के मनोरंजन के साथ अस्पतालों में आने वाले मरीजों के स्वास्थ्य संबंधी ज्ञानवर्धन के लिये टीवी लगाए जाएंगे, अस्पतालों के शौचालयों का स्तर सुधारने हेतु टूट-फूट ठीक कर साफ सुथरा बनाने का कार्य भी किया जाएगा। निर्माण कार्य का जिम्मा हाउसिंग बोर्ड को सौंपा गया है।



गर्भवती महिलाओं के लिए स्थापित होगा कॉल सेंटर:-

कलेक्टर श्री सिंह ने गर्भवती महिलााओं के लिए संवेदनशील पहल करते हुए आपातकालीन स्थिति में प्रसव हेतु अस्पताल आने के लिये वाहन उपलब्ध कराने हेतु कॉल सेन्टर बनाने के निर्देश दिये। इससे किसी गर्भवती महिला को भर्ती कराने के लिए यदि 102 महतारी एक्सप्रेस के आने में देरी हो रही हो तो उस स्थिति में जिला स्तरीय कॉल सेन्टर से उन्हें वाहन सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। इसके लिए कलेक्टर श्री सिंह ने जिले के सभी गांवों में एक वाहन चिन्हांकित कर उसकी डिटेल रखने के लिए कहा ताकि आपातकालीन स्थिति में वहां पदस्थ मेडिकल स्टाफ अथवा जिला स्तरीय कॉल सेंटर के माध्यम से जरूरतमंद महिला को वाहन उपलब्ध करवाया जा सके।

50 एएनएम की होगी जल्द भर्ती:-

कलेक्टर श्री सिंह ने अस्पतालों में मैन पावर बढ़ाने के लिए जल्द ही स्वीकृत 50 एएनएम की भर्ती पूरा करने के निर्देश दिये है साथ ही डॉक्टरों व अन्य मेडिकल तथा सपोर्टिंग स्टाफ की भर्ती प्रक्रिया को तेजी से पूरा करने के लिए सीएमएचओ को निर्देशित किया है।

जिले को मिलेंगे 05 नए एम्बुलेंस

कलेक्टर श्री सिंह नें पूर्व में 108 के अंतर्गत जिले में चल रही एम्बुलेंस की भी समीक्षा कर जर्जर एम्बुलेंस को तत्काल बदलने के स्पष्ट निर्देश संचालन एजेंसी को दिए थे। जिस पर 05 नई एम्बुलेंस जल्द जिले को मिलने जा रही है। जिनमें प्रमुख रूप से सारंगढ़, घरघोड़ा व लैलूूंगा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को यह एम्बुलेंस उपलब्ध करावाया जाएगा। धर्मजयगढ़ के दूरस्थ अंचलो के लिये 2 बाईक एम्बुलेंस भी खरीदी जाएंगी। 102 महतारी एक्सप्रेस के भी कंडम वाहनों को भी जल्द रिप्लेस करने के लिए कहा गया है।


मशीनों की खरीदी और निर्माण के लिए बनाये गये नोडल:-

पिछले दिनों कलेक्टर श्री सिंह ने स्वास्थ्य विभाग की बैठक लेकर विस्तार से प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिकता अनुसार मशीनों की खरीदी और मरम्मत कार्य की समीक्षा की। उन्होंने निर्माण कार्य के लिए अलग-अलग नोडल अधिकारियों की तैनाती करते हुए उन्हें अस्पताल का निरीक्षण कर कार्यो का असेसमेंट करने के निर्देश दिए और कहा जल्द काम को आगे बढ़ाया जाये।

ad

loading...