news-details

पूर्व विधायक रामलाल चौहान ने भंवरपुर में कोविड सेंटर खोलने की मांग की

सरायपाली विधानसभा के पूर्व विधायक रामलाल चौहान ने भंवरपुर में भी कोविड सेंटर खोलने की मांग करते हुए कहा कि यह बड़ेसाजापाली सहित ग्रामीण क्षेत्र है और आसपास के 50 गांवों के आवश्यकताओं को पूरा करने वाला प्रमुख केंद्र है, ऐसे में यहां तत्काल कोविड सेंटर खोलने की आवश्यकता है।

पूर्व विधायक चौहान ने मिडिया में आ रही खबरों के हवाले से कहा कि राज्य सरकार द्वारा न तो जीवनरक्षक दवाओं की पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है और न ही पर्याप्त आक्सीजन, बेड आदि की भी ठीक ढंग से सरकार व्यवस्था करने में नाकाम रही है।

पूर्व विधायक सरायपाली रामलाल चौहान ने आगे बताया कि देखने में आ रहा है कि रेमडेशिविर इंजेक्शन की कमी और कालाबाजारी हो रही है जिसमें सरकारी डॉक्टरों की संलिप्तता सामने आना चिंताजनक है।

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा मुफ्त में वैक्सीन दिया जा रहा है। उन्होंने क्षेत्रवासियों से अपील करते हुए कहा कि अपने आसपास स्थित स्वास्थ्य केंद्र में जाकर सभी वैक्सीन लगवाएं। चौहान ने 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को भी वैक्सीन लगवाने के मोदी सरकार के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि इस निर्णय से राज्य के लाखों युवाओं को लाभ होगा।

पूर्व विधायक चौहान ने आगे बताया कि सरायपाली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कोदोगुड़ा निवासी चमरु सिदार को 11 अप्रेल को कोरोना उपचार के लिए महासमुंद में भर्ती कराया गया था जो कि संबंधित डॉक्टर और स्टाफ की लापरवाही की वजह से कोविड सेंटर में भर्ती चमरु सिदार वहां से गायब हो गए बाद में दूसरे दिन रायपुर रोड स्थित एक शो रूम के पास लावारिस हालत में उनकी लाश पुलिस ने बरामद किया। जबकि 11 से 20 अप्रेल तक चमरु सिदार के परिजनों को कोविड सेंटर के स्टाफ द्वारा मरीज के स्वास्थ्य को लेकर झूठी जानकारी दी गई और परिजनों को गुमराह किया जाता रहा।

जबकि चमरु सिदार की लाश को लावारिस मानकर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। परिजनों की सजगता के बाद पुलिस द्वारा इसकी जानकारी दी गई, और परिजनों को बुलाकर थाने में फोटो दिखाकर सिनाख्त किया गया। ये कैसी विडम्बना है कि परिजनों को अपने परिवार के मुखिया का शव भी अंतिम संस्कार के लिए नहीं मिल पाया।

उन्होंने इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मामले की जांच की मांग एवं लापरवाह कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करते हुए मृतक चमरु सिदार के परिजनों को 25 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की है।



ad

loading...