news-details

जशपुर : जिले भर में किया जा रहा वट सावित्री का पूजन

जशपुर जिला बगीचा विकास खंड ग्राम पंचायत सरधापाठ पकरीटोली में वट सावित्री पूजा में विवाहित महिलाओं का उत्साह देखने को मिल रहा है. वैश्विक महामारी के बीच जिले भर में वट सावित्री का पूजन किया जा रहा है महिलाएं वट वृक्ष के पास एकत्रित होकर पूजा अर्चना के बाद बरगद के पेड़ को परिक्रमा करते हुए व्रती महिलाओं ने पति को दीर्घायु होने की मनोकामना करते हुए परंपरा री कथा भी सुनते हुए महिलाओं वट सावित्री व्रत सुहानी महिलाओं के लिए अन्य व्रत की अपेक्षा अत्यधिक महत्वपूर्ण बताया जाता है वर्ती लोग नए वस्त्र पहन कर सोलह सिंगार कर पूजा की सामग्री को एक टोकरी में डालीया में दोनों में सजा कर पूजा में मे शामिल होते हैं पहले सत्यवान एवं सावित्री की मूर्ति स्थापित कर कथा सुनते हैं पूजा सामग्री की विशेष महत्व धूप दीप रोली भिगोये चने सिंधुर बांस का पंखा लाल या पिला धागा धूपबत्ती फूल फल जल से भरा पात्र सिंदूर लाल कपड़ा आदि से बट वृक्ष का पूजन करते हैं मान्यता के अनुसार वट सावित्री अमावस्या के दिन है सावित्री ने यमराज से अपने पति सत्यवान के प्राण का रक्षा की थी हिंदू धर्म में वट सावित्री अमावस्या को ही मानते हैं सौभाग्यवती स्त्री का महत्वपूर्ण है.