news-details

तौरेंगा में सौर ऊर्जा उपकरण महिनों से ठप्प, युमेन्द्र कश्यप नें दी आंदोलन की चेतावनी

ब्लाक मुख्यालय मैनपुर से 20 कि.मी. दूर नेशनल हाईवे 130 सी पर बसा ग्राम तौरेंगा जहां आज तक बिजली नहीं लग पाई है। यहां के ग्रामीण आज आजादी के सात दशक बाद भी अंधेरों में जीवन निर्वाह कर रहे हैं। बता दें कि- तौरेंगा में रोशनी की व्यवस्था को लेकर 2007 में छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा अक्षय ऊर्जा संयंत्र द्वारा सौर ऊर्जा उपकरण स्थापित किया गया था, लेकिन पिछले 6-7 माह से सौर ऊर्जा उपकरण खराब व बंद पड़ा है।

क्रेडा विभाग के अधिकारी कर्मचारी द्वारा शिकायत के बाद भी संज्ञान में नहीं लिया जा रहा है। ऐसे में युवा संघर्ष मोर्चा गरियाबंद के जिलाध्यक्ष युमेन्द्र कश्यप नें तौरेंगा में बंद पड़े सौर ऊर्जा उपकरण को लेकर आंदोलन की चेतावनी दे दी है। श्री कश्यप नें प्रेस वार्ता में कहा कि- ग्राम तौरेंगा स्थित सौर ऊर्जा उपकरण महिनों से खराब व बंद पड़ा है। ग्रामीणों द्वारा क्रेडा के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अवगत कराने के बाद भी उनके द्वारा गंभीर समस्या के निवारण के लिए कोई पहल नहीं किया जाना समझ से परे लगता है।

युवा संघर्ष मोर्चा द्वारा शुक्रवार को कलेक्टर जिला गरियाबंद एवं अनुविभागीय अधिकारी को बंद व खराब पड़े सौर ऊर्जा की मरम्मत हेतु ज्ञापन दिया जाएगा। दस दिवस के भीतर सौर ऊर्जा उपकरण का मरम्मत को लेकर पहल नहीं किया गया तो, युवा संघर्ष मोर्चा द्वारा उग्र आंदोलन की जाएगी। जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।