news-details

शिक्षाकर्मियों के लिए अच्छी खबर, संविलियन से पहले जिन्होंने गवाई जान उनके परिजनों को मिलेगी अनुकंपा नियुक्ति

शिक्षाकर्मियों के लिए खुशी की खबर है। बताया जा रहा है कि संविलियन के पूर्व जिन शिक्षाकर्मियों की मृत्यु हुई थी, उनके परिजन को अनुकंपा नियुक्ति के संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने कार्यवाही शुरू की है। 

बता दे संविलियन के पूर्व कार्यरत जिन शिक्षाकर्मियों की मृत्यु के हो गई है, उनके परिजन आज भी अनुकंपा नियुक्ति के लिए दर-दर भटक रहे हैं। कई दफा आंदोलन भी कर चुके हैं। शिक्षक संघ भी उनके मुद्दों पर कई बार विभाग के अधिकारियों से गुहार लगा चुका है। इस संबंध में सरकार ने एक कमेटी बनाई है, लेकिन अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है।


सर्व शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विवेक दुबे ने इसे एक अच्छी पहल बताते हुए कहा है, “हमने शासन-प्रशासन दोनों से कई बार गुहार लगाई है कि प्रदेश में लगभग 900 के आसपास ऐसे प्रकरण हैं, जिसमें शिक्षाकर्मियों के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति नहीं दी जा सकी है। इसे सरकार बड़ा दिल कर आसानी से दे सकती है।

छात्र अनुपात 1:25 और मिडिल स्कूल में यह 1:30 होना चाहिए। यानी 25 बच्चों पर एक शि‍क्षक अनिवार्य है। प्राइमरी स्कूल स्तर पर प्रधान पाठक, सहायक शि‍क्षक, शि‍क्षक के पद खाली हैं। इसी तरह मिडिल स्कूल स्तर पर प्रधान पाठक, शि‍क्षक, शि‍क्षक वर्ग के पद खाली हैं। हाई स्कूल स्तर पर प्राचार्य, व्याख्याता, सहायक शि‍क्षक विज्ञान के पद खाली हैं। हायर सेकेंडरी में प्राचार्य, उप प्राचार्य, व्याख्याता के पद खाली हैं।



क्लासिफाइड विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9131581090

क्लासिफाइड