news-details

सरपंच सचिव और सरायपाली के अधिकारियों के साथ मिली भगत कर राशि को बंदरबाट करने का आरोप.

ग्राम पंचायत छिबर्रा पु के सरपंच और सचिव पर ग्रामीणों ने भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए इनकी शिकायत मंत्रालय में की है, ग्रामीणों के अनुसार सरायपाली के अधिकारियों और सरपंच सचिव के मिली भगत से ग्राम पंचायत के राशियों को बंदर बाट किया गया है. और साठ गांठ का आरोप भी लगाया गया है.

बताया गया कि शासन के नियमानुसार उक्त राशि को खर्च करने हेतु जनपद पंचायत सराईपाली से गाइडलाइन जारी किया गया था, इसके बावजूद भी गाइडलाइन को दरकिनार कर मनमानी ढंग से खर्च किया गया है.

स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वीकृत शौचालय निर्माण की राशि को आहरण करके अभी भी पूर्ण नहीं किया जाने का आरोप लगाया गया है, जबकि शासन से शौचालय निर्माण की संपूर्ण राशि ग्राम पंचायत पँचायत को मिल चुका है और आहरण हो चुका है. जबकि शौचालय निर्माण में उपयोग समान इट का भुगतान अभी तक नहीं दिया गया है.

ग्राम पंचायत के सचिव एवं सरपंच के द्वारा पेंसन राशि में भी गड़बड़ी किया जा रहा है जिसमें हितग्राहियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जिसकी सूचना मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सरायपाली एवं अनुविभागीय अधिकारी को लिखित शिकायत करने के उपरांत भी किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है.

ग्राम पंचायत छिबर्रा पु अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत अमलीपदर से सीसी रोड पार्ट 1 और पार्ट 2 राशि 5 लाख 20 हजार स्वीकृत हुआ है. जिसमें सचिव एवं सरपंच के द्वारा अग्रिम राशि के रूप में ₹ 2 लाख 8 हजार का आहरण करके अभी तक कार्य प्रारंभ नहीं किया गया है.

इसी प्रकार पलसापली में सीसी रोड नाली निर्माण ग्राम छिबर्रा में पीडीएस भवन का निर्माण कार्य अधूरा छोड़ दिया गया है, ग्राम शुकडा में आंगनबाड़ी भवन विगत 8 वर्ष से अधूरा छोड़ दिया गया है, ग्राम पुजारी पाली और अमलीपदर में स्कूल आहाता स्वीकृत राशि आहरण करने के बाद भी अधूरा छोड़ दिया गया है.


ad

loading...