news-details

कलेक्टर ने पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से की राष्ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम की समीक्षा

महासमुन्द 13 फरवरी 2020/भारत शासन द्वारा संचालित राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत जिले में राष्ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम 15 सितम्बर 2019 से क्रियान्वित है जो आगामी 15 मार्च 2020 तक चलेगा। पशु नस्ल सुधार के उद्देश्य से इस कार्यक्रम के तहत गाय-भैंसवंशी मादा पशुओं का निःशुल्क कृत्रिम गर्भाधान किया जा रहा है। कलेक्टर श्री सुनील कुमार जैन एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ.रवि मित्तल द्वारा इस कार्यक्रम की विस्तारपूर्वक समीक्षा कलेक्ट्रोरेट सभागार में 12 फरवरी 2020 को ली गई। बैठक में पशु चिकित्सालय महासमुंद तुमगांव, झलप, बागबाहरा, पिथौरा, सांकरा, बसना, भंवरपुर, सराईपाली एवं बलौदा के प्रभारी एवं पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ अधिकारीगण उपस्थित थे। अधिकारियों ने उनके द्वारा कार्य प्रारंभ से अब तक किए गए कृत्रिम गर्भाधान की संस्थावार जानकारी दी गई। पशु चिकित्सा सेवाएं के उपसंचालक डॉ.डी.डी.झारिया ने बताया कि जिले में अब तक कुल 4306 कृत्रिम गर्भाधान एण्ट्री की गई है। इस पर कलेक्टर श्री जैन ने लक्ष्य पूर्ति कम होने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने 31 मार्च 2020 तक लक्ष्य पूर्ण करने के निर्देश मैदानी अमलां को दिए।