news-details

शासकीय एवं अशासकीय संस्था, कॉलेज के पूर्व चैम्पियन खिलाड़ियों द्वारा आवेदन करने की अंतिम तिथि 10 अगस्त तक

भारत सरकार युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय द्वारा खेलो इंडिया योजना अंतर्गत खेलों के विकास एवं प्रोत्साहन हेतु महत्वपूर्ण ‘‘खेलों इंडिया लघु केन्द्र योजना’’ प्रारंभ की जा रही हैं। इस योजनान्तर्गत जिले में लघु केन्द्र स्थापित किया जाएगा । खिलाडियों को प्रशिक्षित करने की इस महत्वपूर्ण योजना के अंतर्गत इसका संचालन पूर्व चैम्पियन खिलाडियों के माध्यम से किया जाएगा। पूर्व चैम्पियन खिलाड़ी प्रशिक्षक एवं मार्गदर्शक बनें व उसके अनुभव का पर्याप्त उपयोग खिलाडियों के प्रशिक्षण पर किया जाए साथ ही योजना में यह भी सुनिश्चित किया गया हैं कि इन पूर्व चैम्पियन खिलाडियों को इस कार्य से कुछ आय प्राप्त हो सकें। जिसमें ओलंपिक खेलों में खेले जाने वाले 14 खेल जिसमे आर्चरी(तीरदांजी),एथलेटिक्स, बैडमिंटन, बॉक्सिंग, साइकिलिंग, फेंसिंग(तलवारबाजी), हॉकी, जूडो, रोइंग, शूटिंग, स्विमिंग(तैराकी), टेबल-टेनिस, वेटलिफ्टिंग(भारोत्तोलन), रेसलिंग(कुश्ती) के साथ ही फुटबाल एवं पारंपारिक खेल भी शामिल हैं। खेलो इंडिया सेंटर की स्थापना के लिए पूर्व चैंपियन खिलाडियों को अनुदान, प्रशिक्षक, सपोर्टिंग स्टाफ, खेल उपकरण क्रय, खेल किट एवं प्रतियोगिता में टीम को सम्मिलित करने के लिए प्रति खेल 5.00 लाख रुपये के मान से अधिकतम 03 खेलों के लिए राशि प्रदान कि जाएगी।

आवेदकों से प्राप्त प्रस्ताव में से अधिकतम 03 खेलो इंडिया लघु केन्द्रों के संचालन हेतु प्रस्ताव का चयन खेल अधिकारी खेल विभाग महासमुन्द द्वारा किया गया है। खेलो इंडिया लघु केन्द्र योजना में पूर्व चैंपियन खिलाडियों द्वारा नवोदित खिलाडियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। पूर्व चैंपियन खिलाड़ी नवोदित खिलाडियों से प्रशिक्षण हेतु कुछ शुल्क भी प्राप्त कर सकते हैं। चयनित खेलो इंडिया केन्द्रों को भारत सरकार द्वारा 04 वर्ष के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। 04 वर्ष के पश्चात पूर्व चैंपियन खिलाडियों की पहचान प्रशिक्षक के रुप में स्थापित होने से वह स्वंय के संसाधनों से केन्द्र का संचालन भविष्य में निरंतर कर सकेंगे।

खेलो इंडिया लघु केंद्र संचालन हेतु पूर्व एथलिटों के लिए प्राथमिकता पहली वरीयता व्यक्तिगत खेल में मान्यता प्राप्त एन एस एफ, संबंधित खेलों के मान्यता प्राप्त संघ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया हो। दलीय खेलों में मान्यता प्राप्त एन एस एफ, संबंधित खेलों के मान्यता प्राप्त संघ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया हो।

दूसरी वरीयता व्यक्तिगत खेलों में मान्यता प्राप्त एन एस एफ, संबंधित खेलों में सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में पदक प्राप्त खिलाड़ी या खेलों इंडिया गेम्स में पदक प्राप्त खिलाड़ी। दलीय खेलों में मान्यता प्राप्त एन एस एफ, संबंधित खेलों में सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में पदक प्राप्त दल का हिस्सा हो या खेलों इंडिया गेम्स में पदक प्राप्त दल का हिस्सा हो।

तीसरी वरीयता व्यक्तिगत खेलों में नेशनल ए आई यू पूर्व प्रतियोगिता में पदक विजेता खिलाड़ी। दलीय खेलों में नेशनल ए आई यू की पूर्व प्रतियोगिता में पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा।

चौथी वरीयता व्यक्तिगत खेलों में मान्यता प्राप्त एन एस एफ द्वारा आयोजित सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में राज्य का प्रतिनिधित्व किया हो। अथवा खेलो इंडिया गेम्स में प्रतिनिधित्व किया हो। दलीय खेलों में मान्यता प्राप्त एन एस एफ द्वारा आयोजित सीनियर राष्ट्रीय पूर्व प्रतियोगिता में राज्य का प्रतिनिधित्व किया हो। अथवा खेलो इंडिया गेम्स में प्रतिनिधित्व किया हो।

आवेदकों के लिए अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष होगी।

विकासखण्ड एवं जिला स्तर पर शासकीय एवं अशासकीय स्कूल, कॉलेज, संस्था एवं अन्य उपलब्ध खेल अधोसंरचना का उपयोग पूर्व चैम्पियन खिलाड़ी, प्रशिक्षक द्वारा प्रस्तावित खेलो इंडिया केन्द्र के लिए किया जा सकता हैं। अशासकीय एवं अशासकीय संस्था, कॉलेज के पूर्व चैम्पियन खिलाड़ी द्वारा आवेदन करने की अंतिम तिथि 10 अगस्त 2020 शाम 5.00 बजे तक कार्यालय खेल एंव युवा कल्याण विभाग में जमा कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार की वेबसाइट sportsauthorityofindia.nic.in  में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। खेल अधिकारी  मनोज कुमार धृतलहरे के मोबाइल नम्बर एवं शांतनु कुमार गुप्ता के मोबाईल नम्बर पर संपर्क कर सकते हैं।

ad

loading...