news-details

कोरोना के खिलाफ जारी है जंग, लगातार तीसरे दिन 90,000 से अधिक रोगी हुए ठीक

कोरोना के खिलाफ कई मोर्चों पर जंग जारी है। टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की नीति पर चलते हुए सरकार कोरोना महामारी से पार पाने में जुटी हुई है तो आर्थिक गतिविधियों को भी धीरे धीरे खोला जा रहा है। कुछ राज्यों में स्कूल आंशिक रूप से खुले हैं, वहीं पर्यटक अब ताजमहल का दीदार भी कर सकेंगे।

कोरोना के खिलाफ सरकार के सख्त कदमों की बदौलत बेहतर नतीजे सामने आ रहे हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के ताजा आंकडों पर गौर करें तो तेजी से मरीजों के रिकवरी होने के कारण भारत में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 90,000 से अधिक रोगी ठीक हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 93,356 मरीजों को छुट्टी दी गई है। अब तक 43 लाख 96 हजार 399 मरीज़ स्वस्थ हो चुके हैं।  भारत का राष्ट्रीय रिकवरी दर 80.12 % हो गया है। कुल रिकवरी के ​वैश्विक आंकड़े में भारत शीर्ष पर है। वैश्विक रिकवरी दर में भारत का योगदान 19% से अधिक है।12 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत से अधिक दर्ज किया गया है। 10 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में नये रिकवरी के 79% मामले सामने आए हैं। देश में कोविड मृत्यु दर घटकर 1.60 प्रतिशत रह गई है।

परीक्षणों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की नीति पर चलते हुए सरकार कोरोना महामारी से पार पाने में जुटी हुई है।  वहीं, लॉकडाउन में थम सी गई जिंदगी को फिर से पटरी पर लाने के लिए तमाम सावधानियों के बीच गतिविधियों को धीरे-धीरे खोला जा रहा है। इसी कडी में हरियाणा पंजाब, जम्मू और असम समेत कुछ राज्यों में आज से आंशिक रुप से स्कूलों को खोलने की पहल की गई है। इन राज्य़ों में कंटेनमेंट जोन के बाहर रहने वाले कक्षा नौवीं से 12वीं तक के छात्रों को स्वेच्छा से स्कूल जाकर शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने की इजाजत दी गयी है।

इसके अलावा कुछ पर्यटक स्थलों को फिर से खोला जा रहा है। कोरोना वायरस के चलते 17 मार्च से बंद किये गए ताजमहल और आगरा किला को 188 दिन के बाद सोमवार को पर्यटकों के दीदार के लिए खोल दिया गया है।  कोरोना काल मे स्मारकों पर कैशलेस व्यवस्था लागू कर पर्यटकों को प्रवेश दिया जा रहा है। इसके साथ ही स्मारकों के दीदार के दौरान मास्क और दो मीटर की शारीरिक दूरी का पालन भी कराया जा रहा है।  कुल मिलाकर कोरोना से जंग में दोनों मोर्चों पर सरकार सावधानी से आगे बढ़ रही है। एक ओर महामारी की रोकथाम के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य संबंधी उपाय किए जा रहे हैं वहीं,, लॉकडाउन में थम सी गई जिंदगी को फिर से पटरी पर लाने के लिए तमाम सावधानियों के बीच गतिविधियों को धीरे-धीरे खोला जा रहा है।
 


ad

loading...