news-details

ससुराल वालों पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप, मामले में न्याय पाने के लिए मृतिका का वृद्ध पिता दर-दर भटक रहा.

करूणाकर उपाध्याय. भंवरपुर.  थाना प्रभारी बसना को 8 अगस्त 2020 को किए गए शिकायत में ग्राम कुम्हारी निवासी खीरसाय पटेल ने बताया है कि उसकी पुत्री मीना पटेल उर्फ नेहा का विवाह वर्ष 2014 में ग्राम पिरदा तहसील पिथौरा निवासी नरेश पटेल पिता शत्रुघ्न पटेल जाति अघरिया से सामाजिक रीति रिवाज के अनुसार विवाह कर अपनी क्षमता अनुसार उपहार भेंट देकर विदा किया था।

विवाह के पश्चात मीना पटेल 1 वर्ष तक अपने ससुराल ग्राम पिरदा में ठीक ठाक रही, उसके बाद उसके सास, ससुर शत्रुघ्न एवं पति नरेश द्वारा मीना उर्फ नेहा को दहेज में कम सामान लाने और अच्छा गुणवत्तापूर्ण सामान नहीं लाने तथा मायके के जमीन जायदाद में बटवारा लाने के लिए प्रताड़ित किया जाता था।

मीना के पिता खीरसाय ने बताया कि उसकी पुत्री द्वारा ससुराल में प्रताड़ित होने की जानकारी जब मायके में दी गई मायके वालों ने उसके ससुराल जाकर समझाइश देकर आए थे। कुछ दिन बाद फिर से मीना पटेल को उसके ससुराल में और भी ज्यादा प्रताड़ित किया जाने लगा। इस बीच प्रताड़ना से तंग आकर मीना पटेल अपने मायके ग्राम कुम्हारी आ करके अपने पिता के साथ रहने लगी। इसी दरमियान उसका पति नरेश पटेल ग्राम कुम्हारी आ कर अपने ससुर खीरसाय पटेल को दो-तीन थप्पड़ जड़ दिया और चला गया।

इसकी शिकायत आरक्षी केंद्र बसना में मीना के पिता द्वारा किया गया था शिकायत की जांच करने पुलिस मीना के पति नरेश के घर पिरदा पहुंची जिसके बाद मीना के पति गांव के प्रमुख लोगों को लेकर ग्राम कुम्हारी आया और समझौता किए। समझौता के बाद उनके गांव वालों और रिश्तेदारों के कहने से खीर सायं ने अपनी पुत्री मीना को उसकी सहमति से उसके ससुराल भेज दिया। शिकायत में आगे बताया गया है कि 3 अगस्त को रक्षाबंधन के समय राखी बांधने के लिए मीना अपने पति के साथ मायके पहुंची थी यहां मीना के पति नरेश पटेल वापस उसी दिन घर चला गया और कहा कि मीना को दो-तीन दिन रखने के बाद पहुंचा देना।

इसके बाद उसके भाई मोद पटेल ने 5 अगस्त की शाम को मीना को उसके ससुराल पिरदा पहुंचा दिया। मीना के पिता खीरसाय पटेल ने थाना प्रभारी बसना को दिए आवेदन में बताया है कि मीना की एक पुत्री दीक्षा पटेल भी है जिसका जन्म वर्ष 2016 में हुआ है । एक पुत्री होने के बाद मीना जैसे तैसे कर अपने ससुराल में रह रही थी, किंतु उसके साथ सांस , ससुर और पति द्वारा आए दिन मारपीट कर मायके से बटवारा लाने का दबाव बना रहे थे । खीरसाय पटेल का आरोप है कि उसके ससुराल वालों द्वारा उसे आत्महत्या के लिए प्रेरित किया गया है।

7 अगस्त को दिन में लगभग 11 बजे खीरसाय पटेल को फोन करके उनके रिश्तेदार दिनेश पटेल निवासी ग्राम इच्छापुर ने फोन कर बताया कि उसकी पुत्री मीना पटेल ने दवाई पी लिया है जिसे जगदीशपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तथा डॉक्टर इसे रायपुर रिफर करने बोल रहे हैं।


खीरसाय पटेल का आरोप है कि इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी मेरी पुत्री के सास, ससुर या पति द्वारा कोई सूचना नहीं दिया गया और रिश्तेदारों के माध्यम से जानकारी मिली जिसके बाद खीरसाय अपनी पत्नी गजमोती एवं पुत्र मोद प्रसाद के साथ जगदीशपुर अस्पताल गया वहां मीना पटेल ने अपनी मां गजमोती को बताया कि उसके पति एवं सास-ससुर मिलकर चप्पल, बेलन आदि से उसके साथ सुबह मारपीट किए थे और हमेशा मारपीट गाली-गलौज शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित किए जाने से मैं दुखी होकर आत्मग्लानि से कीटनाशक दवा का सेवन कर ली हूं।

इधर जगदीशपुर अस्पताल से रायपुर रिफर करने के बाद एक निजी अस्पताल में मीना को भर्ती कराया गया उसके साथ में उसका भाई मोद प्रसाद एवं उसकी मां रात भर रुके थे । सुबह मीना की मां को उसका भाई अपने घर कुम्हारी छोड़ने के लिए रायपुर से वापस आ रहे थे और बसना के पास पहुंचे थे तभी उसके पति नरेश पटेल ने मीना के भाई मोदप्रसाद को फोन पर बताया कि मीना बहुत ज्यादा सीरियस हो गई है वापस आ जाओ, उसके कुछ देर बाद में रिश्तेदार दिनेश पटेल को मीना के भाई मोद प्रसाद ने फोन कर मीना के स्वास्थ्य के बारे में पूछा तो दिनेश पटेल ने बताया कि मीना उर्फ नेहा की मृत्यु हो चुकी है।

मीना पटेल के पिता खीरसाय पटेल ने मृतका मीना पटेल को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप उसके सास, ससुर और पति पर लगाते हुए कार्यवाही की मांग की है जिसमें अभी तक किसी प्रकार कारवाही संबंधित जानकारी मृतका के परिजनों को नहीं दी गई है। जिससे क्षुब्ध होकर के मृतका के परिजनों ने पुलिस अधीक्षक महासमुंद से भी मुलाकात कर न्याय की गुहार लगाई है जहां एसपी महासमुंद द्वारा मामले की जांच कर उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया गया है। मृतका के पिता एवं परिजनों का कहना है कि इस मामले में जल्दी ठोस कार्रवाई नहीं होगी तो हम उच्च अधिकारियों से मुलाकात कर कार्यवाही की मांग करेंगे।

ad

loading...