news-details

महिका बाल विकास और सीडब्ल्यूसी ने ढाई साल के बच्चे को सकुशल उत्तर प्रदेश से लाकर उसकी माँ से मिलाया...मार्मिक कहानी पढ़िए..

सीडब्लूसी एवम महिला एवम बाल विकास की संयुक्त ने यूपी के मथुरा से ढाई साल के बच्चे को रेस्क्यू कर लायी है। प्रशासनिक मदद से बच्चे को सकुशल पाने से उसकी माँ बेहद खुश है। बताया जा रहा है कि बच्चे को रखे आरोपियों ने टीम पर हमला करने का प्रयास भी किया था। रायगढ के घरघोड़ा क्षेत्र की रहने वाली नाबालिग युवती को घर मे काम करने के बहाने से बहला फुसला कर एक युवक ने उसके साथ शारीरिक सबंध बनाया और पत्नी की तरह उसे रखने लगा। इधर जब युवती गर्भवती हुई तो उसे यूपी के मथुरा में ले जाकर राकेश शर्मा के पास 30 हज़ार में बेच दिया था। मथुरा में उसे बन्दी बना कर रखा गया था और उसे प्रताडि़त भी किया जाता रहा। इस बीच युवती ने बच्चे को जन्म दिया तो उसे बच्चे से भी मिलने नही दिया जाता था। किसी तरह युवती वहां से भाग कर रायगढ वापस आई। यहाँ जनवरी 2020 में उसने अपने बच्चे को लाने व आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए पुलिस एवम चाइल्ड लाइन से गुहार लगाई। चूंकि पहले यूपी की सीडब्ल्यूसी भंग थी और उसके बाद लॉक डाउन लग गया था लिहाजा कार्रवाई अधर में लटक गई थी।

आज टीम ने मथुरा से रेस्क्यू कर रायगढ लाया है। महिला ने बताया कि अपने बच्चे को पाकर महिला बहुत खुश है। 2013 में घरघोड़ा में एक व्यक्ति से प्रेम संबंध था इसी दौरान पेट में 3 महीने का बच्चा भी था, बाद उसने डरा धमका कर एक व्यक्ति के साथ आगरा में शादी करा दिया उस व्यक्ति ने भी मथुरा में बेच दिया। कुछ दिन बाद मेरा बच्चा भी हुआ थोड़े दिनों के बाद उस पुरुष की मृत्यु हो गई जिसके बाद उसके परिवार वालों ने मुझे प्रताडि़त करने लगे और मेरा बच्चा भी मुझसे छीन लिया किसी तरह बचकर मैं रायगढ़ पहुंची और पुलिस और महिला बाल विकास में शिकायत की और बच्चे को आज लाया गया है. आरोपियों को जल्द पकड़ उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। इधर महिला एवं बाल विकास अधिकारियों का कहना है कि एक महिला की शिकायत मिली थी जिसमें उसने बताया कि मथुरा में उसका बच्चा उसके ससुराल पक्ष के लोगों ने जबरजस्ती बच्चे को रख लिया है उमरे पूरे मामले की जांच के बाद पता चला कि महिला को दो से तीन बार अन्य पुरुषों को बेचा गया था इसी दौरान उसकी एक बच्चा भी हो गया मथुरा से बच्चे को लाया गया है मथुरा में स्थानीय और परिवार वालों के भारी विरोध के बाद बच्चे को सुरक्षित रायगढ़ लाया गया है और महिला को सुपुर्द किया गया है महिला के शिकायत के अनुसार आरोपी पर कार्रवाई की जाएगी। महिला के कथन के अनुसार पूरा मामला मानव तस्करी से संबंधित है इसलिए इसमें पुलिस की भी मदद ली जाएगी और संबंधित लोगों पर कार्यवाही किया जाएगा।



ad

loading...