news-details

शराबबंदी पर अशासकीय संकल्प, 58 मतों से ख़ारिज... 1 जनवरी 2022 से किया गया था पूर्ण शराबबंदी का समर्थन

छत्तीसगढ़  विधानसभा के मानसून सत्र में शुक्रवार को भाजपा विधायक  शिवरतन शर्मा ने अशासकीय संकल्प प्रस्तुत किया। इस संकल्प में राज्य में 1 जनवरी 2022 से पूर्ण शराबबंदी का समर्थन किया, जिसका सत्ता पक्ष ने जमकर विरोध किया। 

सत्ता पक्ष की तरफ से जवाब दिया गया कि राज्य में शराबबंदी जल्दबाजी में नहीं की जा सकती। मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा, शराबबंदी के लिए बनाई गई कमेटियों ने शराब बंदी निर्धारित प्रक्रिया के तहत करने की वकालत की है। इस पर सदन में अशासकीय संकल्प को लेकर मत विभाजन हुआ। शराबबंदी के पक्ष में 13 और शराब बंदी के खिलाफ 58 वोट पड़े। 1 जनवरी से शराबबन्दी की मांग वाला अशासकीय संकल्प खारिज हुआ।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9131581090




क्लासिफाइड