news-details

रायगढ़: अकेली महिला के घर घुसकर कर दिया बेहरमी से हत्या... मरने से पहले महिला ने बचाव में किया अंतिम सांस तक संघर्ष... !

रायगढ़ : नेपाल मूल की एक महिला के घर घुसकर अज्ञात वधिकों द्वारा उसे मौत के घाट उतारने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। यह वारदात जिंदल से लगे गोरखा की है। चूंकि, हत्प्राण के सिर और गले में गहरे चोट के निशान हैं, इसलिए एडिशनल एसपी तथा सीएसपी ने फोरेंसिक टीम एवं डॉग स्क्वॉयड के साथ घटना स्थल का जायजा लेते हुए कातिल का सुराग ढूंढ रहे हैं।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार शहर के वार्ड क्रमांक 43 स्थित गोरखा में सोमवार शाम लगभग 5 बजे उस समय सनसनी फैल गई, जब लोगों को भनक लगी कि गोरखा के ऊपरी बस्ती में रहने वाले नेपाल मूल के सिक्यूरिटी गार्ड हिम बहादुर गुरुंग की पत्नी मीरा गुरुंग (45 वर्ष) की खून से लथपथ लाश सन्दिग्ध परिस्थितियों में उसके घर में पड़ी है। फिर क्या, विवाहिता के मृतदेह को देखने भीड़ लग गई। वहीं, इसकी खबर कोतरा रोड पुलिस को जैसे ही लगी, हरकत में आए थाना प्रभारी चमन सिन्हा और एएसआई भारद्वाज तत्काल मौके पर पहुंचकर मृतिका के बेटे सूरज गुरुंग से बातचीत की तो पता चला कि वारदात के समय घर में मीरा अकेली थी।

सूरज गुरुंग ने बताया कि वे लोग मूलतः नेपाल के हैं और विगत 15 साल से गोरखा में रहते हैं। पिता हिम बहादुर सिक्यूरिटी गार्ड है तो वह (सूरज) जिंदल में ठेकेदार के मातहत काम करता है। मीरा के 3 बच्चे हैं। बहादुर कुछ दिन पहले अपनी छोटी बेटी को लेकर नेपाल गया है तो सोमवार सुबह सूरज के ड्यूटी में जिंदल जाने के बाद पेट्रोल पंप में काम करने वाली उसकी बहन नवरात्रि उपवास होने के कारण देवी दर्शन के लिए चंद्रपुर गई थी। सूरज दिनभर जिंदल में काम करने के बाद शाम को घर लौटा तो उसकी बहन ने उसे बताया कि भीतर दाखिल होते ही वहां का खूनी मंजर देख एकबारगी रूह तक कांप उठी, क्योंकि उसकी मां की रक्तरंजित लाश औंधे मुंह पड़ी थी। इसके बाद बदहवास युवती और उसके भाई सूरज ने आसपड़ोस के लोगों को इसकी सूचना दी।


चूंकि, मौका-ए-वारदात पर कुछ घरेलू सामान बिखरा था और लाश को घसीटने के वहां खून के धब्बे साफ दिख रहे थे, लिहाजा प्रथमदृष्टया हत्या का प्रतीत होते ही टीआई ने तत्काल पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा को वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए फोरेंसिक एक्सपर्ट और डॉग स्क्वॉयड भेजने को कहा। तदुपरांत, एसपी ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लखन पटले के साथ सीएसपी योगेश कुमार पटेल को मौके पर भेजा। पुलिस अफसरों ने मृतदेह का जायजा लिया तो देखा कि मीरा के गर्दन और सिर में लोहे के संघातिक हथियार के हमले से गंभीर चोट के निशान थे तो आसपास खून भी पसरा था। घटना स्थल को देख माना जा रहा है कि महिला ने कातिलों से संघर्ष भी किया होगा।

वहीं, जब स्पष्ट हुआ कि मामला ब्लाइंड मर्डर का है तो मौके की नजाकत को भांप एसएसएल टीम और डॉग स्क्वॉयड की भी मदद ली गई, ताकि कातिलों का सुराग मिलते ही पुलिस उन्हें धरदबोचे। साथ ही पंचनामे की कार्रवाई कर मीरा की लाश को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेजा गया, जहां मंगलवार सुबह मर्च्यूरी रूम में पीएम होगा। बहरहाल, पुलिस की अबतक पूछताछ में इस बात का खुलासा नहीं हो पाया कि आखिर महिला की हत्या किसने और क्यों की। यही वजह है कि पुलिस अब मृतिका के नेपाल गए पति को घटना की जानकारी देते हुए रायगढ़ बुलाया है, ताकि अंधे कत्ल की यह गुत्थी सुलझ सके। फिलहाल, कोतरा रोड पुलिस अज्ञात हत्यारे के खिलाफ भादंवि की धारा 302 के तहत आपराधिक प्रकरण कायम कर तहकीकात में जुटी है।

3 संदिग्ध नाबालिग हैं पुलिस हिरासत में-

नेपाल मूल की विवाहिता के ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री को पुलिस ने चैलेंज के रूप में लिया है। नतीजतन, घटना से जुड़ी हरेक पहलुओं की बारीकी से जांच पड़ताल हो रही है। बताया जाता है कि फोरेंसिक एक्सपर्ट और स्निफर डॉग की सहायता से पुलिस के हाथ जो क्लू लगे हैं, उसमें शक की बिनाह पर 3 ऐसे लोगों को हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ जारी है जो नाबालिग हैं। वहीं, जनचर्चा है कि इस हत्याकांड को 5 मुल्जिमों ने अंजाम दिया है, जिसमें 3 लोकल हैं तो 2 बाहरी है, लेकिन असलियत क्या है इसे पुलिस खंगाल रही है।



क्लासिफाइड विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9131581090

क्लासिफाइड