news-details

डिप्टी कलेक्टर और परियोजना अधिकारी ने दिलाई तंबाकू छोड़ने की शपथ, नशे में नहीं घुलेगा युवा, नशा छुड़वाने आठ महाविद्यालयों के स्टूडेंट्स ने दिया जागरूकता का परिचय

˝शहर के शंकराचार्य भवन में आयोजित एक बहु-उद्देशीय जागरूकता संगोष्ठी में आला अधिकारियों, सहायक प्राध्यापकों सहित 800 विद्यार्थियों ने युवाओं से किया तंबाकू छोड़ने आह्वान˝


महासमुंद, 08 दिसम्बर 2019/वर्तमान में भारत सम्पूर्ण विश्व में सबसे युवा आबादी वाले देशों में गिना जाता है। लगभग 65 प्रतिशत जनसंख्या 35 वर्ष से कम उम्र की है। लेकिन चिंताजनक बात यह है कि युवा पीढ़ी में नशे की सेंध लग रही है और दुर्भाग्य से तंबाकू के नशे को लेकर विश्व में दूसरे स्थान पर बना हुआ है जो अत्यंत चिंतनीय है। ऐसे में महासमुंद में जारी जागरूकता अभियान में विद्यालयीन बच्चों के साथ अब महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को भी ट्रिगर किया जा रहा है।


इसी कड़ी में शहर के शंकराचार्य भवन में जिले के 08 प्रतिष्ठित महाविद्यालयों के प्राचार्यों और विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करने के लिए एक साथ आमंत्रित किया गया। जिला निर्वाचन दल के तत्वावधान में हुई वृहदत्तर जागरूकता कार्यशाला में मतदान संबंधी प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के बाद दूसरी पाली में जिला तंबाकू नशा मुक्ति केंद्र दल ने भी जागरूकता कक्षा आयोजित की। मनोवैज्ञानिक सलाहकार श्रीमति मेद्या ताम्रकार ने बताया कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एचपी वारे और जिला कार्यक्रम प्रबंधक श्री संदीप ताम्रकार के निर्देशानुसार गैर संचारी रोग विभाग के नोडल अधिकारी डॉ अनिरुद्व कसार व जिला सलाहकार सुश्री अदीबा बट्ट के मार्गदर्शन में शासकीय सामाजिक कार्यकर्ता असीम श्रीवास्तव द्वारा विद्यार्थियों को तंबाकू नशे के दुष्परिणाम बताते हुए मुंह और फेफड़ों के कैंसर जैसी बीमारियों से होने वाली मृत्यु-दर के आंकड़ों से परिचित कराया गया। बढ़ते क्रम में डिप्टी कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ नेहा कपूर व परियोजना अधिकारी श्री रेखराज शर्मा ने सभी को तंबाकू का नशा न करने के साथ-साथ अन्य लोगों को भी नशा छोड़ने के लिए प्रेरित करने की शपथ दिलाई। जागव वोटर्स (जाबो) की प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में विजयी रहे महाविद्यालयीन दलों के उत्साहवर्धन हेतु कार्यक्रम में उपस्थित सम्माननीय अतिथियों के माध्यम से राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम द्वारा प्रदत्त स्मृति चिन्ह एवं आईईसी सामग्री देकर पुरस्कृत किया गया।

आयोजन में आठ महाविद्यालयों में शा. महाप्रभु वल्लभाचार्य महाविद्यालय महासमुंद, शा. माता कर्मा कन्या महाविद्याल महासमुंद, शा. नवीन महाविद्यालय चिरको, शांतिबाई बीएड महाविद्यालय महासमुंद, इंडियन बीएड महाविद्यालय महासमुंद, शा. पॉलिटेक्निक महाविद्यालय महासमुंद, शा. आईटीआई महासमुंद एवं नवकिरण अकादमी महासमुंद के प्रभारियों सहित तकरीबन 800 से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया।


इस दौरान श्री डीके निर्मलकर, नोडल अधिकारी जाबो, नगर पालिका परिषद महासमुंद, टीआई सुश्री दीपा केंवट एवं श्री सुरेंद्र मानिकपुरी, बाल मित्र रोशना डेविड व सुश्री अन्नू भोई, नवजीवन प्रेरक सुश्री अनुजा छत्तर एवं महाविद्यालय प्रभारियां में श्री एनके साहू, सुश्री नमर्ता देवांगन, श्री उमेंद्र साहू, श्री चुम्मन निषद, श्री देवेंद्र निषाद, श्री भोजराम पटेल, श्री गोपाल साहू एवं श्री अमित उपस्थित थे।

ad

loading...