news-details

होम क्वॉरेंटाइन ख़त्म होने से पहले चालक को बुलाया ड्यूटी पर, सरायपाली बीएमओ को देना होगा स्पष्टीकरण

सरायपाली में विगत दिनों होम क्वॉरेंटाइन  के नियमों को लेकर सरायपाली बीएमओ के तानाशाही रवैया सामने आया था, जिसमे शासकीय चालक को बिना होम क्वॉरेंटाइन  पूरा किये बीएमओ द्वारा उसे वापस ड्यूटी में आने को कहा था.

इसके साथ ही चालक सरायपाली में जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमणकाल में  किये गए मॉकड्रील के दौरान देखा गया, इसके बाद जब यह मामला जिला कलेक्टर महासमुंद श्री सुनील जैन के संज्ञान में आया तो जिला चिकित्सा अधिकारी को आदेश देते हुए इसकी जांच के लिए कहा था.

जिसके लिए जिला चिकित्सा अधिकारी ने सरायपाली बीएमओ को 7 दिवस के अंदर स्पष्टीकरण जवाब देने के लिए कहा, जिसका आज 4 दिन हो चुका है और अब तक ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी द्वारा संतुष्टि जनक जवाब पेश नहीं किया गया है.

जबकि नियमानुसार होम क्वारेंटिंन को तोड़ने वाले लोगों के ऊपर धारा 188 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज हो रहा है, देखने वाली बात यह होगी की स्वास्थ्य विभाग के इस बड़ी चूक के कारण अधिकारी और कर्मचारी के ऊपर क्या कार्रवाई होगी.

वहीं जिला चिकित्सा अधिकारी श्री वारे से संपर्क करने पर बताया कि ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी के जवाब के बाद ही नियमानुसार उचित कार्यवाही की जाएगी. जिला चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कोरोना काल के चलते मौखिक में दूरभाष के माध्यम से स्पष्टीकरण देने कहा गया है, जो कि लिखित में बीएमओ को स्पष्टीकरण देना होगा.

दरअसल स्वास्थ विभाग का ड्राइवर कोटा से वापस आए एक छात्रा को महासमुद लेने गए थे, नियमानुसार ड्राइवर को 14 दिनों के लिए होम क्वॉरेंटाइन होना था लेकिन इस दौरान सरायपाली बीएमओ के आदेश और ड्राइवर ने सरायपाली में हुए मॉक ड्रिल के दौरान कार्य में उपस्थित रहा और ना जाने कितने अधिकारी और कर्मचारी के संपर्क में आया.


ad

ad

ad
loading...