news-details

रायगढ़:-एनजीओ कर्मी महिला को लिफ्ट के बहाने सुनसान जंगल मे किया गैंगरेप... विरोध करने पर सर को कुचले आरोपी..मरा समझकर पर्स और समान लेकर हुवे रफूचक्कर..20 वर्षीय युवक और एक अपचारी बालक ने दिया वारदात को अंजाम...

लैलूंगा के खलखिया के पास 18 अक्टूबर की सुबह अधमरी हालत में पड़ी मिली एनजीओ कर्मी महिला के साथ गैंगरेप होने की बात सामने आई है।

आरोपियों ने दुष्कर्म के दौरान महिला के विरोध करने पर उसकी हत्या करने चेहरे पर वार किया था। मरी समझ छोड़ भागे थे। पुलिस ने एक नाबालिग सहित दाे काे गिरफ्तार किया है। घटना स्थल से मिले ब्रेसलेट और सर्विलांस के जरिए पुलिस आराेपियाें तक पहुंची।

अपहरण कर दुष्कर्म करने, लूट, हत्या के प्रयास का अपराध दर्ज कर पुलिस ने दाेनाें रिमांड पर भेजा है।

थाना प्रभारी ने बताया कि सरगुजा बलरामपुर की रहने वाली 40 वर्षीय महिला कोतबा और आसपास के गांवो में एनजीओ बनवाने का काम करती है। रविवार काे उसे पत्थलगांव जाना था। वह बस से बीच रास्ते लैलूंगा में उतर गई। मीटिंग में जल्दी पहुंचने के चक्कर में उसने पास में खड़े धरमजयगढ़ के संताेष यादव (22) व उसके 16 वर्षीय साथी से लिफ्ट मांग ली। पेट्राेल डलवाने की बात तय हाेने पर बाइक सवार दाेनाें उसे पत्थलगांव की ओर लेकर चल दिए। बीच रास्ते में आराेपियाें का मन डाेल गया और खलसिया के पास सुनसान जगह पर उसके साथ दुष्कर्म किया और विराेध करने पर जान से मारने के लिए पत्थर से हमला किया। 

आराेपी उसे मरा समझकर उसका पर्स, माेबाइल लूट कर भाग गए थे। महिला रायपुर के अस्पताल में भर्ती जहां पर उसकी अभी भी हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस परिजन से उसके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ले रही है। पहले ही दिन पुलिस को महिला के एक युवक के साथ बाइक पर देखे जाने का पता चला था।

ad

ad

loading...