news-details

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) और स्पाइसहेल्थ द्वारा संयुक्त रूप से विकसित मोबाइल कोविड-19 आरटी पीसीआर लैब का उद्घाटन किया

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज नई दिल्ली में भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) परिसर में मोबाइल कोविड-19 आरटी पीसीआर लैब का उद्घाटन किया। यह मोबाइल लेब ICMR और स्पाइसहेल्थ ने संयुक्तरूप से शुरू की है। 

उद्घाटन समारोह में केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन भी शामिल हुए। स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग (DHR) के सचिव और ICMR के महानिदेशक डॉक्टर बलराम भार्गव, स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक श्री अजय सिंह तथा स्पाइस हेल्थ की सीईओ सुश्री अवनी सिंह भी उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल हुए।

इस टेस्टिंग लैब और ऐसे ही अन्य लैब, जिन्हें स्थापित करने की योजना है, से कोविड-19 टेस्टिंग क्षमता में और वृद्धि होगी। इस लैब को NABL ने प्रमाणित किया है और ICMR ने इसे मान्यता दी है। कोविड-19 के लिए आरटी पीसीआर टेस्टिंग अत्यंत निर्णायक और महत्वपूर्ण है। इस टेस्ट की लागत 499 रूपये होगी जो ICMR वहन करेगा। आम जनता के लिए यह टेस्ट निशुल्क होगा। लोगों को सुलभ कोविड-19 टेस्टिंग उपलब्ध कराने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

सैंपल लेने के बाद 6 से 8 घंटे के अंदर टेस्ट रिपोर्ट उपलब्ध होगी जबकि इसी तरह के टेस्ट की रिपोर्ट मिलने में औसतन 24 से 48 घंटे का समय लगता है।

स्पाइसहेल्थ ने देश भर में टेस्टिंग सुविधाएँ (लेबोरेटरी) और कलेक्शन सेंटर स्थापित करने के लिए ICMR के साथ एक ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए हैं। इसके तहत दिल्ली में पहली टेस्टिंग सुविधा स्थापित की गई है।आने वाले दिनों में राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न हिस्सों में ऐसी और अधिक टेस्टिंग सुविधाएँ स्थापित की जाएंगी। पहले चरण में 10 लैब स्थापित करने की योजना है। शुरुआत में यह लैब प्रतिदिन 1,000 सैंपल की टेस्टिंग करेगी, जिसे बाद में बढ़ाकर 3,000 सैंपल प्रतिदिन तक ले जाया जा सकता है।




ad

ad

ad

loading...