news-details

महासमुन्द : सरपंचों को अब कोरेंनटाईन सेंटर के साथ शव वाहन तैयार करने की जिम्मेदारी

महासमुन्द जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण और कोरोना से बढ़ते मृत्यु दर पर काबू पाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा अनेक कदम उठाए जा रहे है।जिले एंव प्रदेश से बाहर रह रहे प्रवासी मजदूरों को निगरानी में रखने के लिए कोरेनटाइन सेंटर तैयार करने के साथ कोरोना से पीड़ित व्यक्ति की मृत्यु होने पर शमशान घाट तक शव को ले जाने के लिए शव वाहन की भी तैयारी करने की जिम्मेदारी पंचायत के सरपंचों को दे दी गई है और कोरेनटाइन सेंटर और शव वाहन में होने वाले खर्च का भुगतान सरपंच अपने मद से करने की आदेश जारी किया गया है ।

आदेश जारी होते ही सरपंचों ने अपनी पीड़ा मुख्य कार्यपालन अधिकारी के समक्ष रखा है और कहा है। कोरेनटाइन सेंटर में होने वाले खर्च का भुगतान पिछले वर्ष का भुगतान अभी तक नही हो पाया है, ऊपर से अब प्रशासन द्वारा दोबारा कोरेंनटाईन सेंटर तैयार करने एंव शव वाहन का व्यस्था, जिससे कोरेंनटाईंन सेंटर में आपात काल मृत्यु हो जाने पर शव को श्मशान घाट ले जाने की व्यस्था करना सरपंचों के लिए सरदर्द बन गया है।कोरोनो से पीड़ित व्यक्ति की मृत्यु होने पर शव को शमशान घाट ले जाने के लिए कोई अपना वाहन देने भी राजी नही हो रहे ऐसे स्थिति में सरपंच लाचार और बेबस खड़ा नजर आ रहा है ।



ad

loading...