news-details

लॉकडाउन गांव पहुंच कर 157 पशुओं का त्वरित इलाज

बलौदाबाजार, 7 अप्रैल 2020/ लॉकडाउन की स्थिति में पशु चिकित्सा सेवाओं को अनिवार्य सेवा घोषित करने के साथ ही छूट प्रदान की गई है। जिले में पशुओं के त्वरित रोग उपचार हेतु जिला स्तर पर रैपिड एक्शन टीम का गठन किया गया है। साथ ही ब्लाक स्तर पर एक अधिकारी को रैपिड एक्शन टीम में शामिल किया गया है । विगत 4 अप्रैल को पशु चिकित्सा अधिकारी कसडोल को सरपंच ग्राम पंचायत घिरघोल द्वारा सूचित किया गया कि उनके ग्राम के कई पशुओं में घाव हो रहा है, एवं कीडे़ पड़ रहे हैं। जिसके कारण पशुपालक चिंतित है। उन्होंने तुरंत गांव पहुंचकर उपचार करने का अनुरोध किया।

पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ कसडोल डॉ. लोकेश वर्मा द्वारा तत्काल जिला स्तर पर गठित रैपिड एक्शन टीम को बुलाया गया । टीम के प्रभारी पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ डाॅ.तरूण सोनवानी,सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी श्री राजेश कुमार वर्मा एवं कार्यालयीन सहायक श्री जितेन्द्र कुमार वर्मा द्वारा मोबाईल यूनिट के साथ 5 अप्रैल को सवेरे लगभग 10 बजे ग्राम घिरघोल पहुंचकर रोगग्रस्त पशुओं का निरीक्षण किया गया । निरीक्षण उपरांत यह पाया गया कि ग्राम के कई गौवंशीय पशुओं में त्वचा रोग की बीमारी फैली है। इस रोग में जानवरों के त्वचा पर गोल घाव बन रहे हैं । इनका समय पर उपचार न होने पर सेप्टिसीमिया की स्थिति हो सकती थी । रैपिड एक्शन टीम के अधिकारी एवं पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ डाॅ.लोकेश वर्मा द्वारा ग्राम के सभी पशुओं का घर-घर जाकर निरीक्षण एवं इलाज किया गया। उनके द्वारा 157 पशुओं का इलाज किया गया और उनके मालिकों को औषधि वितरित किया गया । वर्तमान में सभी पशु स्वस्थ हैं तथा समस्त पशुओं का उपचार कोविड-19 के तहत जारी प्रोटोकॉल की सावधानियों को ध्यान में रखकर किया गया ।

ad

ad

ad
loading...