news-details

फुलझर ब्लड फाउंडेशन के संचालक व सदस्य कोरोना काल में भी सेवा देते हुए......

सरायपाली लॉक डाउन में फुलझर ब्लड फाउंडेशन अपने स्लोगन "मानवता की पहचान " को चरितार्थ करते हुए, अब लोगो को रक्तदान के लिए जागरूक कर रही है ताकि ऑक्सीजन की कमी जिस प्रकार हो रही है वैसे रक्त की कमी ब्लड बैंको में में न हो , विगत कई वर्षों से छत्तीसगढ़ के विभिन्न अंचलों में रक्तदान के क्षेत्र में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, समूह का मुख्य उद्देश्य रक्त की कामी से जूझ रहे असहाय व जरूरतमंद लोगों के लिए तत्काल रक्त की व्यवस्था करानी है, समिति की प्राथमिकता मरीज के अटेंडर को रक्तदान के लिए जागरूक करना होता है, तत्पश्चात नहीं की स्थिति में संचालक गण द्वारा समाजसेवी रक्तदाताओं से संपर्क कर मरीज के लिए रक्तदान कराया जाता है, समिति का प्रारंभ महासमुंद के सरायपाली अंचल से हुई है, जिसमे ज्यादातर संचालक सरायपाली अंचल से है और इस समूह की वजह से आज सरायपाली अंचल में रक्तदान के क्षेत्र में जागरूकता की लहर छाया हुआ है, समिति का उद्देश्य सिर्फ अपने गृह स्थल नही अपितु सम्पूर्ण भारत में रक्तदान के प्रति जागरूकता की लहर लानी है और इसमें जनता जनार्दन के सहयोग की अति आवश्यकता है , रक्त को बनाया नही जा सकता है , न ही उत्पादन किया जा सकता है , एक मानव ही दूसरे मानव का काम आता है अतः निवेदन है आप सभी से आप भी आगे आए और मानवता के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाएं रक्तदान करें और लोगो को रक्तदान के लिए जागरूक करें। फुलझर ब्लड फाउंडेशन के सक्रिय संचालक गण के साथ साथ हमारे समूह के सदस्यों द्वारा भी पिछले हफ्ते रक्तदान किया गया है जो कि इस प्रकार हैं..  सुनील नायक जी, दुर्गेश नायक जी,  सेतराम साहू जी, तरुण चौहान जी,  रोहित सिदार जी,  योगेश पटेल जी, लोकेश चौधरी जी,  नरेंद्र पारेश्वर जी और  बृजेश साहू जी, इन सभी रक्तदाताओं को बधाई व शुभकामनाएं दिए।इनके जैसे आप भी रक्तदान कर समाज सेवा का हिस्सा बन सकते है , फुलझर ब्लड फाउंडेशन से जुड़ने के लिए अपना नाम , पता व , ब्लड ग्रुप व्हाट्स एप करें .....7000948356, 9399434293