news-details

उच्चतम स्तर से सात हजार रुपये नीचे है सोना वायदा, जानिए कितनी है कीमत

आज घरेलू बाजार में सोने और चांदी की वायदा कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर सोना वायदा 49,131 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। जबकि चांदी वायदा 0.3 फीसदी गिरकर 71,619 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। पिछले कारोबारी सत्र में सोना और चांदी 0.35 फीसदी बढ़े थे। पीली धातु पिछले साल के उच्चतम स्तर (56200 रुपये प्रति 10 ग्राम) से करीब सात हजार रुपये नीचे है। मार्च में सोने की कीमतें लगभग 44,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के निचले स्तर पर पहुंच गई थीं।

वैश्विक बाजार में इतनी है कीमत

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कमजोर डॉलर के चलते हाजिर सोना सपाट रहा। हाजिर सोना 1900 डॉलर प्रति औंस के करीब था। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.1 फीसदी बढ़कर 27.89 डॉलर प्रति औंस पर थी, पैलेडियम 0.1 फीसदी बढ़कर 2,837.76 डॉलर पर रहा और प्लैटिनम 0.1 फीसदी बढ़कर 1,174.02 डॉलर पर रहा। डॉलर इंडेक्स 90.003 पर सपाट था, जो पिछले सप्ताह के तीन सप्ताह के उच्च स्तर 90.627 से नीचे है।

कमजोर निवेशक रुचि को दर्शाता है ईटीएफ का प्रवाह

दुनिया की सबसे बड़ी गोल्ड समर्थित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड या गोल्ड ईटीएफ, एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग्स शुक्रवार के 1,043.16 टन के मुकाबले सोमवार को 0.6 फीसदी गिरकर 1,037.33 टन हो गई। स्वर्ण ईटीएफ सोने की कीमत पर आधारित होते हैं और उसके दाम में आने वाली घट-बढ़ पर ही इसका दाम भी घटता बढ़ता है। मालूम हो कि ईटीएफ का प्रवाह सोने में कमजोर निवेशक रुचि को दर्शाता है। एक मजबूत डॉलर अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोने को अधिक महंगा बनाता है।

मालूम हो कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा सोने का आयातक देश है। मुख्य रूप से आभूषण उद्योग की मांग को पूरा करने के लिए सोने का आयात किया जाता है। मात्रा के हिसाब से भारत सालाना 800 से 900 टन सोने का आयात करता है। सरकार ने बजट में सोने पर आयात शुल्क 12.5 फीसदी से घटाकर 10 फीसदी (7.5 फीसदी सीमा शुल्क और 2.5 फीसदी कृषि बुनियादी ढांचा और विकास उपकर) कर दिया है। आमतौर पर सोने को मुद्रास्फीति के खिलाफ बचाव के रूप में देखा जाता है।