news-details

रायगढ़ पुलिस से अपराधियों का बचना मुश्किल...अपराधी को बिहार-झारखंड के चप्पे-चप्पे से छान मार कर निकाल ही लिया..

पुसौर क्षेत्र में स्थित एनटीपीसी लारा कंपनी में पिछले 6,7 साल से टेलर वाहन चलाने वाल बिहार के 24 वर्षीय युवक ने नाबालिक लड़की को अपने प्रेम जाल में फंसा कर उसे बिहार ले गया। नाबालिग बालिका के गायब हो जाने के बाद परिजन ने मामले की सूचना पुलिस को दी जिसके बाद पुसौर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 363 आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर मामले की जांच में जुट गई।

नाबालिक लड़की की पतासाजी हेतु संदेही युवक का लोकेशन ट्रैक किया गया। परंतु संदेही लगातार लोकेशन बदल रहा था। लोकेशन बदले जाने के बाद डीएसपी गरिमा द्विवेदी द्वारा थाने के प्रधान आरक्षक के साथ एक टीम गठित कर संदेही के निवास जिला नाबाद (बिहार) टीम रवाना किया गया जहां कई स्थानों पर पुसौर पुलिस द्वारा दबिश दी गई।

इसी बीच मामले के लिए लगाए गए मुखबिरो से जिला देवघर झारखंड में संदेही युवक के छिपे होने की जानकारी मिली। जिसके बाद पुलिस द्वारा गठित टीम जिला देवधर पहुंचकर स्थानीय मधुपुर पुलिस की मदद लेकर संदेही के ठिकाने पर दबिश दी गई। जहां संदेही मोहम्मद मोफीज शाह के कब्जे में बालिका मिली।

संदेही मोहम्मद मोहसिन शाह व बालिका को पुसौर लाया गया । बालिका के कथन, मेडिकल के बाद प्रकरण में धारा 366, 376 भादवि 4, 6 पास्को एक्ट की धारा जोड़ी गई है । आरोपी मोहम्मद मोफिज़ शाह पिता मोहमद निशार शाह उम्र 24 वर्ष साकिन मुनैदी थाना अकबरपुर ज़िला नबादा (बिहार) बताया कि पिछले 6-7 साल से रायगढ़ में रहकर ट्रेलर वाहन चलाता है, पिछले कई महीनों से ट्रेलर एनटीपीसी, लारा में चल रही थी, इसी दौरान बालिका को अपने प्रेम जाल में फंसाया और उसे बहला-फुसलाकर शादी का प्रलोभन देकर बिहार ले गया था ।

पुसौर पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है । बालिका को उसके परिजनों के सुपुर्द किया गया है, पुसौर पुलिस की कार्यवाही पर परिजन द्वारा संतोष व्यक्त कर किया गया है।