news-details

शिक्षक राधेश्यम ने गांव की सुरही पाठ ग्रामोत्थान समिति जेपरा को दिए 5 लाख

ग्राम जेपरा विकासखंड चारामा ज़िला उत्तर बस्तर कांकेर (छग) के एक आदर्श ग्राम के नाम से जाना पहचाना ग्राम है। ग्राम जेपरा शत प्रतिशत शिक्षित ग्राम है और ग्राम में प्रत्येक घर से एक न एक शासकीय सेवक के रूप चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से लेकर प्रथम श्रेणी के अधिकारी हैं इसके अतिरिक्त प्राइवेट जॉब एवं अन्य सेवा में है।

सुरही पाठ ग्रामोत्थान समिति ग्राम विकास और पर्यावरण के क्षेत्र में ग्राम पंचायत जेपरा के साथ मिलकर काम कर रही है और पिछले कुछ दिनों से समिति ग्राम की गली - मोहल्ले, तालाब मेड़ पार, सड़क किनारे और ख़ाली जगहों में वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण की दिशा में काम कर रही है।

राधेश्याम नेताम उम्र 55 वर्ष जो की ग्राम जेपरा विकासखंड चारामा ज़िला उत्तरबस्तर कांकेर के “हर्रापारा” के निवासी है और वर्तमान में शिक्षक के पद पर भैरमगढ़ ज़िला बीजापुर में पदस्थ है। नेताम ने कहा है कि माता-पिता के आशीर्वाद और ग्राम के देवी देवता के आशीर्वाद से शिक्षक हैं और अविवाहित होने के कारण खर्च कम है और उनके मन में अपने ग्राम के विकास के साथ साथ किसी भी क्षेत्र में उल्लेखनीय और प्रशंसनीय कार्य करने वाली संस्था हो या व्यक्ति हो ग्रामोत्थान समिति के माध्यम से माता -पिता अर्थात अपने दाई - बबा जो अब जीवित नही है उनकी याद में भेंट की गई राशि से प्राप्त होने वाली ब्याज की राशि से सम्मानित कर प्रेरित करना चाहते हैं। श्री नेताम ने कहा कि ग्राणोत्थान समिति हरवंश मिरी के मार्गदर्शन में अध्यक्ष नारद काँगे , कार्यकारी अध्यक्ष दीपक राय, कोषाध्यक्ष उमेश सोनवानी के नेतृत्व में ग्राम विकास और जनचेतना के लिए बहुत अच्छा काम कर रही है जिससे प्रभावित होकर उन्होंने पाँच लाख रुपए की राशि समिति के अध्यक्ष और कोषाध्यक्ष को चेक के माध्यम से दिए हैं।

श्री नेताम के द्वारा सुरही पाठ ग्रामोत्थान समिति को पाँच लाख रुपए की राशि प्राप्त होने पर संरक्षक लखन लाल रायस्त, मार्गदर्शक हरवंश मिरी, नारायण कोमरा अध्यक्ष नारद काँगे , कार्यकारी अध्यक्ष दीपक राय, उपाध्यक्ष व्ही के साहू, लीलादास दुबे , सचिव भूपेन्द्र नागे ,कोषाध्यक्ष उमेश सोनवानी, सरपंच भागवत नेताम, गोठान समिति के अध्यक्ष चित्रकांत सिन्हा सहित ग्राम वासियों और समिति के सभी सदस्यों ने आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद व्यक्त किया।