news-details

बसना : ट्रक को रखकर कबाड़ी में काटते 112 की टीम ने पकड़ा, आपसी समझौते से खत्म हुआ मामला.

बसना थाना अंतर्गत भंवरपुर में मोहन अग्रवाल के अन्नपूर्णा राईसमिल में एक फाइनेंस किये हुए ट्रक को काटकर कबाड़ी करते हुए 112 पुलिस की टीम द्वारा पकड़े जाने की खबर सामने आई है.

मिली जानकारी के अनुसार बसना थाना अंतर्गत शिवशंकर राइस मिल के संचालक के खिलाफ किराए में दिए हुए ट्रक को जबरिया रखकर नोटरी में हस्ताक्षर करवाने की शिकायत कुंदन प्रसाद सिन्हा निवासी ब्लदीडीह ने पुलिस से किया था. जिस ट्रक को कबाड़ी में काटे जाने की सुचना पर पुलिस पहुंची और मामले में जुड़े सभी लोगों को सवाल-जवाब के लिए पुलिस थाना लेकर आई. जहाँ शिकायतकर्ता (आवेदक) ने अनावेदक के साथ आपसी समझौता कर लिया. और यह मामला ख़त्म हो गया.

इसके पूर्व कुंदन प्रसाद सिन्हा ने अपने ट्रक को जबरिया रख लिए जाने की शिकायत पुलिस से की थी, जिसमे उसने बताया था कि वह परिवार के भरण पोषण के लिए एचडीवी फाइनेंस कम्पनी से ट्रक नम्बर CG 04 JA 5771 फाइनेंस करवाया था. जो बाजार में उतार चढ़ाव के चलते नही चला पा रहा था.

विज्ञापन के लिए संपर्क करें : 9131581090

इसके बाद शिकायतकर्ता कुंदन सिन्हा ने बरोली निवासी शिव शंकर राइस मिल के संचालक को अपनी ट्रक प्रतिमाह 55 हजार रुपये किराए की दर से उक्त ट्रक को राजेश पटेल के सुपुर्द किया था.
कुंदन प्रसाद सिन्हा ने बताया कि वह 21 दिसंबर 2019 को अपने ट्रक को किराए के रूप में दिया था, जिस ट्रक से 05 अक्टूबर 2020 को एक आदमी दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिससे उसकी मृत्यु हो गई थी. दुर्घटना के पूर्व 2 लाख कुल राशि चेक के माध्यम से किराए का पैसा दिया था.



इसके बाद कुंदन प्रसाद सिन्हा जब किराए के राशि के लिए जब राजेश पटेल के पास गया तो राजेश पटेल द्वारा 5 हजार 10 हजार के रूप में उसे 2 लाख 15 हजार रु दिया गया. और फिर किराए का राशि राजेश पटेल ने देना बंद कर दिया और ट्रक वापिस नहीं किया.

इस बीच फाइनेंस कम्पनी द्वारा शिकायतकर्ता सिन्हा को बार-बार फोन आने लगा, तथा उसके घर मे फाइनेंस कम्पनी द्वारा कर्मचारियो के आने जाने से शिकायतकर्ता मानसिक तनाव में आ गया.
वहीँ अब उस ट्रक को काटे जाने की सूचना पर जब पुलिस ने सब को बुलाया तो इस मामले को समझौता कर खत्म कर दिया गया.




क्लासिफाइड