news-details

शिकायत के लिए ग्रामीणों को उकसाकर सरपंच सचिवो को मांगी जाती है लाखों की रकम !

बसना विकासखण्ड अंतर्गत ग्राम पंचायतो में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के तहत ग्राम पंचायतों में सामाजिक आंकेक्षण इकाई के कर्मचारी मिथिलेश यादव के विरुद्ध शिकायत किया गया है कि मिथिलेश ग्राम पंचायतों के गांव में ऑडिट के दौरान ग्रामीणों को बहला-फुसलाकर भ्रामक रूप से गलत जानकारी देकर शिकायत के लिए उकसाया करता था.

मिथिलेश ग्रामीण जनों को धोखे में रखकर कोरा खाली पेपर में हस्ताक्षर कराया करता था वह जनप्रतिनिधि एवं पंचायत कर्मचारियों को दिखा कर भारी मात्रा में रकम की मांग किया करता है. जिसे नहीं दिए जाने पर 5 से 10 लाख की वसूली की धमकी दी जाती है एवं अपने हिसाब से मनगढ़त ऑडिट रिपोर्ट तैयार कर उच्च कार्यालय को उनके द्वारा प्रेषित किया जाता है.

मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत बरोली से अखिलेश यादव के द्वारा 50,000 रुपये की मांग किया गया है. सरपंच संघ जनपद पंचायत बसना और सचिव संघ जिला महासमुंद मिथिलेश यादव के कार्यशैली से मानसिक रूप से प्रताड़ित है एवं मिथिलेश यादव के ऊपर आवश्यक कार्यवाही करने की शिकायत सामाजिक आंकेक्षण इकाई रायपुर, मुख्यकार्यपालन अधिकारी महासमूंद, अनुविभागीय अधिकारी सरायपाली, परियोजना अधिकारी, जिला समन्वयक, मुख्यकार्यपालन अधिकारी बसना, कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा बसना को किया गया है.

ad

loading...