news-details

दुर्घटनाग्रस्त पुलिस परिवार के लिये पुलिस अधीक्षक बने संकटहारक

तीन दिन पहले सरसींवा से महासमुंद लौटते हुए नेशनल हाईवे थाना पटेवा दर्री पड़ाव के पास, स्कार्पियो वाहन बुरी तरह से दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी। दुर्घटना में दो लोगो की मौत व दस महिला-पुरूष व बच्चे गम्भीर रूप से घायल हो गये, जिन्हे तत्काल 112 की मदद से हास्पिटल लाया गया। सभी 10 लोगों का ईलाज श्री बालाजी सुपर स्पेशियलिटी हाॅस्पिटल मोवा रायपुर में चल रहा है।

दुर्घटना में घायल लोगों में महासमुंद पुलिस में पदस्थ आरक्षक गिरधारी भास्कर की पत्नि एवं दो छोटे बच्चे भी थे, जिनमे उनकी पुत्री को गंभीर चोंट आई है। इस बात की सूचना जिले के पुलिस कप्तान को देने पर उन्होने तत्काल पुलिस कर्मचारी की मनोदशा एवं आर्थिक संकट को समझते हुए आरक्षक की 8 वर्षीय पुत्री एवं पत्नी के बेहतर ईलाज एवं चिकित्सा में होने वाले खर्च के लिए संचालक श्री बालाजी सुपर स्पेशलिटी हाॅस्पिटल रायपुर के नाम कार्यालयीन पत्र प्रेषित किये जिसमें आरक्षक के परिवार के उपचार में आने वाले समस्त व्यय राशि का भुगतान हेतु आर्थिक डिमांड तत्काल पीड़ित पुलिस कर्मी से न करते हुए सीधे पुलिस अधीक्षक महासमुंद को चिकित्सा देयक प्रेषित करने को कहा गया।
पुलिस कर्मचारी के दुर्घटनाग्रस्त परिवार के बेहतर ईलाज एवं आर्थिक संकट की परवाह करते हुए जिले के पुलिस अधीक्षक स्वयं सामने आये। पुलिस अधीक्षक के इस मार्मिक पहल एवं सहानुभूति का, पीड़ित आरक्षक के साथ-साथ पुलिस विभाग के समस्त कर्मचारियों एवं उनके परिवार ने सराहना की।






ad

ad

loading...